नई दिल्ली : भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने विश्व कप के लिए स्टार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन का समर्थन करते हुए कहा है कि उनका अनुभव टूर्नामेंट में टीम के काम आएगा. 2011 विश्व कप फाइनल के हीरो रहे गंभीर ने हाल ही में इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास की घोषणा की है. अश्विन इस समय सीमित ओवरों की क्रिकेट से भारतीय टीम से बाहर हैं और कलाई के स्पिनर युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव सीमित ओवरों के प्रारूप में भारत के लिए मुख्य स्पिनर की भूमिका निभा रहे हैं.

एक वेबसाइट ने गंभीर के हवाले से लिखा, “विश्व कप के लिए उनके नाम पर विचार करना चाहिहए क्योंकि वह एक प्रमुख स्पिनर हैं जिनके नाम टेस्ट में 300 विकेट हैं. इसलिए यदि मुझे कुलदीप और चहल की जगह किसी को शामिल करना हो तो मैं अश्विन को चुनूंगा.”

दिल्ली के पूर्व कप्तान ने कहा, “उनके पास एक अच्छा अनुभव है और उन्होंने कई बड़े टूर्नामेंट जिताने में अपना योगदान दिया है. इसलिए मेरा मानना है कि उनका अनुभव टीम के काम आएगा.” अश्विन 2017 से ही भारतीय वनडे टीम से बाहर हैं.

भारत की हार से रोहित ने लिया सबक, टीम के घटिया प्रदर्शन पर जताई नाराजगी

बता दें कि अश्विन ने आखिरी वनडे जून 2017 में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेला था. जबकि इससे पहले वो कई बार शानदार प्रदर्शन कर चुके हैं. अश्विन ने 109 वनडे पारियों में 150 विकेट झटके हैं. उनका सर्वश्रेष्ठ वनडे प्रदर्शन एक पारी में 4 विकेट लेकर 25 रन देना रहा है. अश्विन ने टी-20 इंटरनेशनल मैचों में भी कई मौकों पर करिश्माई गेंदबाजी कर चुके हैं. उन्होंने इसमें 52 विकेट लिए हैं.