नई दिल्ली: इंग्लैंड दौरे के लिए चुने गये अंबाती रायुडू के यो-यो टेस्ट में विफल होने से भारतीय चयन समिति की दुविधा बढ़ गयी है जिन्हें तीन मैचों की वनडे सीरीज के लिए उनकी जगह किसी दूसरे खिलाड़ी को चुनना होगा. रायडू की जगह सुरेश रैना को मौका मिल सकता है. इस बीच रोहित शर्मा यो-यो टेस्ट के लिए रविवार को उपस्थित होंगे. उन्होंने बीसीसीआई से 15 जून को इस टेस्ट में भाग नहीं लेने की अनुमति ली थी. Also Read - Rishabh Pant की बोगस अपील पर खुद को रोक नहीं पाए Rohit Sharma, मैदान पर ही लेने लगे मजे, देखें वीडियो

Also Read - IND vs AUS: डेब्‍यूटेंट टी नटराजन, वाशिंगटन सुंदर की शानदार गेंदबाजी से 369 पर सिमटा ऑस्‍ट्रेलिया

बीसीसीआई के महाप्रबंधन (क्रिकेट परिचालन) सबा करीम ने कहा, ‘‘रोहित ने निजी व्यस्तता के कारण बीसीसीआई से इसमें शामिल नहीं होने की अनुमति ली थी. ऐसा कोई नियम नहीं है कि सभी खिलाड़ियो को एक ही दिन यो – यो टेस्ट देना हो. वह टेस्ट के लिए कल मौजूद होंगे.’’ Also Read - फेस मास्‍क पहनकर मैदान में आए ऑस्‍ट्रेलियाई फैन्‍स, CA ने कुछ यूं लिए मजे

अनुष्का ने बीच सड़क पर कचरा फेंक रहे व्यक्ति को लगाई डांट, कोहली ने शेयर किया VIDEO

रायुडू का यो-यो टेस्ट में विफल होना अश्चर्यचकित करता है वह भी तब जब उन्होंने आईपीएल की चैम्पियन टीम चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए 602 रन बनाये. वह इस टेस्ट में 14 अंक ही हासिल कर सके जबकि क्वालीफाई करने के लिए 16.1 अंक चाहिए थे. यह पता चला है कि टीम प्रबंधन और चयन समिति रायुडू की जगह लेने वाले खिलाड़ी के नाम पर एक मत नहीं है. चयनकर्ताओं के पास कम से कम पांच विकल्प है जो इस काम के लिए दो – तीन दिनों का समय ले सकते है.

महेन्द्र सिंह धोनी और दिनेश कार्तिक के टीम में होते हुए यह देखना दिलचस्प होगा कि तीसरे विकेटकीपर ऋषभ पंत को जगह मिलती है या नहीं. पंत आईपीएल में शानदार फॉर्म में थे. बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘‘बीसीसीआई के एक वर्ग को लगता है कि वनडे मैचों में अजिंक्य रहाणे के मामले को मौजूदा टीम प्रबंधन (कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री) ने ठीक से नहीं संभाला.’’

पांड्या के खतरनाक थ्रो से दो टुकड़ों में बंट गया स्टम्प, VIDEO वायरल

केदार जाधव पूरी तरह फिट रहे तो उनके चयन पर सब लगभग एकमत हैं. अगर वह फिट नहीं हुए तो सुरेश रैना या कृणाल पांड्या के लिए दरवाजे खुल सकते है. रैना के पास 200 से अधिक वनडे मैचों का अनुभव है और टीम प्रबंधन उनके पक्ष में है जबकि चयनकर्ता कृणाल पांड्या या मनीष पांडे को एक विकल्प के तौर पर देख रहे हैं.