नई दिल्ली. टीम इंडिया की वर्ल्ड कप की तैयारी शुरू हो चुकी है. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज, उसके बाद न्यूजीलैंड का दौरा और फिर अपने घर में भी ऑस्ट्रेलिया का स्वागत, ये सभी सीरीज वर्ल्ड कप से पहले भारतीय टीम के लिए अपनी तैयारियों को परखने का अहम पड़ाव होंगे. खैर, तैयारियां तो चलती रहेंगी लेकिन उससे पहले टीम को लेकर कुछ खतरे जिससे विराट एंड कंपनी को सावधान रहने की जरुरत है. ये खतरे 3 तरह के हैं जिससे भारतीय टीम को पार पाना है.

विराट का 3 रन पर आउट होना 

सिडनी में खेले साल 2019 के पहले वनडे मुकाबले में विराट कोहली सिर्फ 3 रन बनाकर आउट हुए, जो कि वर्ल्ड कप के लिहाज से टीम इंडिया के लिए बेहतर संकेत नहीं है. दरअसल, भारत को अगर वर्ल्ड कप जीतना है तो विराट कोहली के बल्ले का चलना बहुत जरुरी है. लेकिन, जिस तरह से विराट साल के पहले वनडे में सिंगल डिजीट पर पवेलियन लौटे हैं उसने टीम इंडिया के लिए खतरे की घंटी बजा दी है.

पिछले 5 सालों में यानी 2014 से 2018 तक विराट सिर्फ 1 बार साल के पहले वनडे में दहाई का आंकड़ा नहीं छू सके थे और वो साल था क्रिकेट वर्ल्ड कप के आयोजन का साल 2015. विराट ने साल 2015 में खेले पहले वनडे मुकाबले में सिर्फ 9 रन बनाए थे और उस साल उनका टोटल स्कोर 36.65 की औसत से सिर्फ 623 रन का रहा था, जो कि पिछले 5 सालों के बाकी सालों की तुलना में सबसे कम है.

रोहित शर्मा क्रिकेट फील्ड पर रखते हैं अपनी फैमिली का खास ख्याल, हर स्पेशल मौके पर जमाते हैं शतक

डेथ ओवर्स में भुवी का खराब फॉर्म

टीम इंडिया में भुवनेश्वर कुमार को डेथ ओवर्स स्पेशलिस्ट कहा जाता है. लेकिन, जब सिडनी में खेले साल 2019 के पहले वनडे में कप्तान कोहली ने उन्हें मैच का आखिरी ओवर फेंकने के लिए गेंद थमाई तो उन्होंने 18 रन लुटा दिए. इससे साफ हो गया कि भुवी खराब फॉर्म से अभी उबरे नहीं हैं.

वर्ल्ड कप इंग्लैंड में खेला जाना है जहां कि पिचें भुवी के लिए परफेक्ट हैं. लेकिन, जनवरी 2018 से अब तक के उनके प्रदर्शन को देखें तो आंकड़े डराने वाले हैं. भुवी ने इस दौरान डेथ ओवर्स यानी 41 से 50 ओवरों के बीच 8.17 की इकॉनोमी से रन लुटाए हैं, जो कि इस दौरान दूसरे किसी भी भारतीय गेंदबाज की तुलना में सबसे खराब है.

ऑस्ट्रेलियाई टीम वनडे-टी20 खेलने आयेगी भारत, BCCI ने घोषित किया शेड्यूल

नंबर 4 की पोजिशन को लेकर मचमच

टीम इंडिया के अंदर नंबर 4 की बल्लेबाजी पोजिशन हमेशा चर्चा में रही है. वैसे तो विराट कोहली इस पोजिशन के लिए अंबाती रायडू के नाम पर मुहर लगा चुके हैं. लेकिन, सिडनी में खेले साल 2019 के पहले वनडे के बाद उप-कप्तान रोहित शर्मा ने इस पोजिशन के लिए धोनी का नाम लेकर नया शिगूफा छेड़ दिया है.

दरअसल, सिडनी वनडे में धोनी नंबर 4 पर बल्लेबाजी के लिए उतरे और मुश्किल वक्त में टीम की नैया को पार लगाते हुए 51 रन बनाए. जिस हालात में धोनी के बल्ले से ये पारी निकली उसने रोहित शर्मा को ये कहने पर मजबूर कर दिया कि धोनी के लिए नंबर 4 की पोजिशन परफेक्ट हैं. बहरहाल, टीम में अंतिम फैसला कप्तान का होता है और इस पर भी विराट को इस तरह से फैसला करना होगा कि वर्ल्ड कप से पहले टीम के माहौल पर फर्क न पड़े.