मुंबई: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के मुख्य चयनकर्ता एमएस के प्रसाद ने रविवार को कहा कि टीम प्रबंधन ऋषभ पंत जैसे युवा खिलाड़ियों के कौशल को निखारना चाहता है. अखिल भारतीय राष्ट्रीय चयन समिति ने वेस्टइंडीज दौर के लिए रविवार को यहां भारतीय टीम का ऐलान किया और पंत को तीनों प्रोरूपों के लिए टीम में जगह दी. अनुभवी महेंद्र सिंह धोनी ने पहले ही बता दिया था कि वह दो महीनों के लिए ब्रेक लेंगे. बता दें कि वर्ल्ड कप में धीमी बल्लेबाजी को लेकर धोनी की आलोचना की जा रही थी. वेस्टइंडीज दौरे के लिए उनके चयन के कयास लगाए जा रहे थे. माना जा रहा है कि ऐसी ही ख़बरों के कारण धोनी ने दो माह के लिए खुद को क्रिकेट से अलग कर लिया और सेना के साथ समय बिताने का फैसला किया.

धवन व साहा की टीम इंडिया में वापसी, दिनेश कार्तिक की छुट्टी, राहुल चाहर T20 में नया चेहरा

प्रसाद ने कहा, “धोनी इस सीरीज के लिए उपलब्ध नहीं हैं. हमने विश्व कप तक एक रोडमैन तैयार किया था और हमारी आगे की योजनाएं भी तैयार है. हम फिलहाल, पंत जैस खिलाड़ियों के कौशल को निखारना चाहते हैं. पंत ने कुछ भी गलत नहीं किया जिसके कारण हम उन्हें टीम में शामिल न करें.” इस सीरीज में होने वाले टेस्ट मैच के लिए रिद्धिमान साहा की भी टीम में वापसी हुई है. प्रसाद ने कहा, “पंत तीनों प्रारूपों में खेलेंगे इसलिए हमें उनके वर्कलोड को मैनेज करना होगा. किसी समय साहा और केएस भारत पर भी अपनी दोवदारी पेश करेंगे.”

‘जो नहीं खेल पाते थे, वो भी साध रहे निशाना, सच्चे खिलाड़ी जानते हैं धोनी की असली कीमत’

उन्होंने कहा, “टेस्ट क्रिकेट में भारत टीम में शामिल होने के बहुत करीब आए. हमारे यहां एक अलिखित नियम है कि जब कोई सीनियर खिलाड़ी चोटिल होता है तो उसे वापसी का मौका दिया जाना चाहिए इसलिए हमने शाहा को मौका दिया.” प्रसाद ने नवदीप सैनी जैसे युवा खिलाड़ियों के चुने जाने पर कहा, “हमने इंडिया-ए के लिए किए गए खिलाड़ियों के प्रदर्शन को प्राथमिकता दी है.” वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत को दो टेस्ट, तीन वनडे और तीन टी-20 मैच खेलने हैं.