नई दिल्ली. मेलबर्न टेस्ट में अगर टीम इंडिया का पलड़ा भारी दिख रहा है तो इसकी वजह है उसका विशाल स्कोर. भारत ने पहली पारी में 7 विकेट खोकर 443 रन बनाए, जिसमें 1 शतक और 3 अर्धशतक शामिल रहे. इसके बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने भारत की पहली पारी घोषित कर दी.

हालांकि, कुछ क्रिकेट पंडितों को भारत का पहली पारी को यूं डिक्लेयर करना रास नहीं आया. वो दरअसल इसमें 50-75 रन और तलाश रहे थे.

लेकिन विराट की नजरें तो ऑस्ट्रेलिया के विकेट पर टिकी थी. ये अलग बात है कि उनकी तमन्ना पूरी नहीं हो सकी. दूसरे दिन ऑस्ट्रेलिया ने बिना कोई विकेट गंवाए 8 रन बनाए. और, इस लिहाज से वो भारत से पहली पारी के आधार पर अब भी 435 रन दूर है. मतलब साफ है मेलबर्न की राह कंगारुओं के लिए अब भी आसान नहीं है.

इससे पहले टीम इंडिया ने मेलबर्न टेस्ट के दूसरे दिन 2 विकेट पर 215 रन से आगे खेलना शुरू किया और अपने स्कोर बोर्ड को 7 विकेट पर 443 रन तक पहुंचाया. इस दौरान पहले दिन 68 रन बनाकर नाबाद रहे पुजारा ने अपना 17वां टेस्ट शतक पूरा किया वहीं 47 रन बनाकर पहले दिन खेल रहे भारतीय कप्तान विराट कोहली ने 82 रन की सॉलिड इनिंग खेली. नीचले क्रम में रोहित शर्मा का रंग भी दिखा, जो 63 रन बनाकर नाबाद रहे.

दूसरे दिन भारत की ऑस्ट्रेलियाई विकेट की तलाश तो पूरी नहीं हो सकी ऐसे में तीसरे दिन अब विराट एंड कंपनी की कोशिश उन्हें जल्दी समेटकर फॉलोऑन खिलाने की होगी. हालांकि, मेलबर्न की पिच का जो मिजाज नजर आ रहा है उसे देखते हुए ऐसा मुमकिन होता दिख नहीं रहा. फिर भी मेलबर्न टेस्ट पर भारत का शिकंजा टाइट तो है ही.