नई दिल्ली. केएल राहुल फुल लेंथ डिलीवरी पर थर्ड स्लिप में लपके गए तो दूसरे ओपनर मुरली विजय शॉर्ट बॉल पर विकेट के पीछे कैच थमा बैठे.

चौकाने वाली फुलर लेंथ ने एक बार फिर से विराट कोहली का शिकार किया तो चौथे या 5वें स्टंप पर जा रही गेंद को छेड़ने का हर्जाना रहाणे को सेकेंड स्लिप पर चुकाना पड़ा

इसके बाद रोहित शर्मा पर नाथन लियॉन का दिया लालच भारी पड़ा. एक के बाद एक इन तस्वीरों को देखकर साफ पता चल रहा था कि ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों का होमवर्क कम्पलीट था.

ये A,B,C क्या है?

अब इन तस्वीरों का A, B, C से क्या लेना देना है वो समझिए. यहां A का मतलब है एडिलेड, B का मतलब है बर्मिंघम और C का मतलब है केपटाउन. अब जरा A,B,C यानी एडिलेड, बर्मिंघम और केपटाउन के कनेक्शन को भी समझ लीजिए. जिस तरह से टीम इंडिया का टॉप ऑर्डर अपनी पुरानी गलतियों को दोहराते हुए एडिलेड में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ढेर हुआ ठीक उसी अंदाज में इससे पहले बर्मिंघम में इंग्लैंड के खिलाफ और उससे पहले केपटाउन में साउथ अफ्रीका के खिलाफ खेले टेस्ट में ढह गया था.

सीरीज के पहले टेस्ट में टांय-टांय फिस्स

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड टेस्ट की पहली पारी में भारत के पहले 5 विकेट 86 रन पर गिरे. इंग्लैंड के खिलाफ बर्मिंघम टेस्ट की पहली पारी में भी भारत ने पहले 5 विकेट 100 रन पर खो दिए थे. वहीं साउथ अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन टेस्ट की पहली पारी में टीम इंडिया ने अपने पहले 5 विकेट सिर्फ 76 रन पर गंवाए थे. कमाल की बात ये है कि ये तीनों टेस्ट इसी साल खेले गए और एडिलेड टेस्ट की तरह पहले दो भी टेस्ट सीरीज के पहले ही मैच थे.

पहला मैच हारे, सीरीज भी हारे

बहरहाल, एडिलेड के नतीजे का और इसका ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज पर क्या असर पड़ेगा उसका तो इंतजार रहेगा. लेकिन, बर्मिंघम में इंग्लैंड के खिलाफ और उससे पहले केपटाउन में साउथ अफ्रीका के खिलाफ नतीजा क्या निकला था जरा वो जान लीजिए. बर्मिंघम टेस्ट इंग्लैंड ने 31 रन से जीतते हुए टेस्ट सीरीज में 1-0 की बढ़त बनाई थी तो केपटाउन टेस्ट में भारत को 72 रन से रौंदते हुए साउथ अफ्रीका में 1-0 की लीड ली. ये तो रहा सीरीज के पहले टेस्ट मैच का हाल. अब जरा इसके सीरीज के नतीजे पर भी गौर कीजिए. इंग्लैंड ने 5 टेस्ट मैचों की सीरीज 4-1 से जीती तो साउथ अफ्रीका ने 3 टेस्ट मैचों की सीरीज में 2-1 से जीत दर्ज की.

एडिलेड में भी वही ‘डर’

ऑस्ट्रेलिया की ही तरह टीम इंडिया को इंग्लैंड और साउथ अफ्रीका में भी जीत का दावेदार माना जा रहा था. लेकिन, वो दावेदारी बस कागजों तक ही सीमित रह गई. और, जो तस्वीरें एडिलेड ओवल के मैदान से सामने आई हैं वो भी अब कुछ वैसी ही कहानी बयां कर रही हैं.