नई दिल्ली. मेलबर्न टेस्ट की पहली पारी में 292 रन की बड़ी बढ़त लेने के बाद टीम इंडिया ने दूसरी पारी उम्मीद के मुताबिक नहीं रही. टीम के टॉप ऑर्डर ने एक के बाद एक करके सरेंडर कर दिया. टीम इंडिया ने 50 रन के अंदर टॉप के 5 बल्लेबाजों को गंवा दिया और आउट होने से पहले ये सभी स्कोर बोर्ड पर सिर्फ 19 रन ही जोड़ सके. सबसे ज्यादा 13 रन का योगदान हनुमा विहारी का रहा. विराट और पुजारा के लिए खाता खोलना दुभर हो गया तो वहीं रहाणे ने 1 रन बनाए, जबकि रोहित शर्मा 5 रन बनाकर पवेलियन लौटे. हालांकि, टॉप ऑर्डर के इस कदर सरेंडर के बावजूद भी मेलबर्न टेस्ट टीम इंडिया की जेब के अंदर है.

विराट-पुजारा के साथ तीसरी बार हुआ ऐसा

टेस्ट क्रिकेट में मेलबर्न में ऐसा तीसरी बार हुआ जब विराट और पुजारा एक ही इनिंग में शून्य पर आउट हुए. मेलबर्न टेस्ट से पहले ये दोनों इसी साल इंग्लैंड के खिलाफ ओवल टेस्ट में जबकि 2014 के इंग्लैंड दौरे पर खेल ओल्ड ट्रैफर्ड टेस्ट में भी एक ही पारी में बिना खाता खोले आउट हुए थे.

मेलबर्न टेस्ट में टीम इंडिया ने दोहराया 72 साल पुराना शर्मनाक रिकॉर्ड

गावस्कर की क्लब में पुजारा

ऑस्ट्रेलिया में एक ही टेस्ट में शतक और शून्य पर आउट होने वाले पुजारा तीसरे भारतीय बल्लेबाज हैं. उनसे पहले 1948 में वीनू मांकड़ और 1977 में सुनील गावस्कर के साथ भी ऐसा हो चुका है. कमाल की बात ये है कि इन तीनों बल्लेबाज के साथ ऐसी घटना मेलबर्न टेस्ट में ही घटी.

जसप्रीत बुमराह ने मेलबर्न में लगाया ‘छक्का’, ऐसा करने वाले पहले एशियाई गेंदबाज बने

‘सरेंडर’ के बाद होगा ‘वंडर’

बहरहाल, दूसरी पारी में टॉप ऑर्डर के सरेंडर के बावजूद मेलबर्न टेस्ट भारत की जेब में दिख रहा है. हम ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि भारतीय टीम की अभी तक की बढ़त 346 रन की हो चुकी है, जो कि MCG की पिच को देखते हुए जीत के लिए एक अच्छा स्कोर है. इनफॉर्म ओपनर मयंक अग्रवाल और विस्फोटक रिषभ पंत क्रीज पर जमे हैं. चौथे दिन का पहला सेशन भी अगर टीम इंडिया पूरा खेल लेती है तो उसकी बढ़त न सिर्फ 400 रन के पार पहुंच जाएगी बल्कि टीम इंडिया की जीत भी सुनिश्चित हो जाएगी. इसके अलावा मेलबर्न टेस्ट में अभी पूरे दो दिन का खेल बाकी है, जो कि ऑस्ट्रेलिया के 10 विकेट चटकाने को काफी समय है.

विराट ने जीता है टॉस… भूलना मत!

मेलबर्न में भारत की जीत की एक और बड़ी वजह उसके कप्तान विराट कोहली का इस टेस्ट में टॉस जीतना भी है. दरअसल, विराट ने अब तक जितने भी टेस्ट मैच में टॉस जीता है उसे गंवाया नहीं है. इससे पहले 20 टेस्ट में विराट टॉस जीत चुके हैं, जिनमें 17 में उन्हें जीत हासिल हुई है. जबकि, 3 टेस्ट ड्रॉ रहे हैं.