डब्ल्यूटीए (WTA) के संस्थापक बिली जीन किंग (Billie Jean King), रोजर फेडरर (Roger Federer) और राफेल नडाल (Rafael Nadal) ने पुरूषों के एटीपी और महिला टेनिस के डब्ल्यूटीए के विलय का सुझाव देते हुए दोनों पेशेवर टेनिस टूर को एक संगठन के अंतर्गत लाने की बात कही। Also Read - खाली स्टेडियम में आयोजित हो सकता है फ्रेंच ओपन : एफएफटी प्रमुख बर्नार्ड गुइडिसेली

पुरूषों में 20 ग्रैंडस्लैम जीतने का रिकार्ड बना चुके फेडरर ने सबसे पहले इसे लेकर ट्वीट किया था। उन्होंने कहा था, ‘‘मैं हैरान हूं कि क्या मैं ही ऐसा सोचता हूं कि महिला और पुरूष टेनिस को एक करने का समय आ गया है।’’ Also Read - एंडी मर्रे ने कहा- हालात सामान्य होने के बाद ही खेला जाएगा टेनिस

उन्होंने कहा, ‘‘मैं कोर्ट पर प्रतियोगिताओं के विलय की बात नहीं कर रहा हूं बल्कि एटीपी और डब्ल्यूटीए के विलय की बात कर रहा हूं।’’ Also Read - कोरोना वायरस लॉकडाउन: सितंबर में फ्रेंच ओपन से टेनिस कोर्ट पर वापसी करेंगे एंडी मर्रे

वहीं 1973 में डब्ल्यूटीए की स्थापना करने वाले किंग ने कहा, ‘‘मैं सहमत हूं। मैं सत्तर के दशक से बोलता आ रहा हूं। एक आवाज, महिला और पुरूष साथ, ये लंबे समय से टेनिस के लिए मेरा नजरिया रहा है।’’

वहीं 19 ग्रैंडस्लैम जीत चुके नडाल ने कहा, ‘‘मैं रोजर फेडरर से पूरी तरह सहमत हूं। दुनिया भर में छाये इस संकट से निकलते ही ये कदम उठाना सराहनीय होगा।’’