नई दिल्ली. टेस्ट क्रिकेट को ‘जेन्टलमैन गेम’ की जान समझा जाता है. ये फॉर्मेट होता तो सबसे लंबा है लेकिन उतना ही मजेदार भी. खिलाड़ी की काबिलियत की असली परख इसी फॉर्मेट में होती है. दुनिया में इस वक्त 11 देश हैं जिन्हें टेस्ट क्रिकेट खेलने का दर्जा प्राप्त है. 1 जनवरी 2018 से अब तक के प्रदर्शन के आधार पर हमने टेस्ट खेलने वाले 11 देशों से एक-एक खिलाड़ी को चुना है औरटेस्ट क्रिकेट में साल 2018 की बेस्ट ‘प्लेइंग XI’ तैयार की है. इस टीम में 5 स्पेशलिस्ट बल्लेबाज, 3 तेज गेंदबाज, 2 स्पिनर और 1 ऑलराउंडर को जगह दी गई है.

टॉप ऑर्डर: (1-3)

दिमुथ करूणारत्ने (श्रीलंका)

श्रीलंका के बाएं हाथ के ओपनिंग बल्लेबाज दिमुथ करूणारत्ने साल 2018 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले ओपनर हैं. 1 जनवरी 2018 से अब तक वो 8 टेस्ट मैच की 15 पारियों में वो 52.57 की औसत के साथ 736 रन बना चुके हैं.

टेस्ट-08, पारी-15, रन- 736, औसत-52.57, बेस्ट- 158*, 100/50- 1/7

एडन मारक्रम (द. अफ्रीका)

साउथ अफ्रीका के बाएं हाथ के बल्लेबाज एडन मारक्रम साल 2018 में दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले टेस्ट ओपनर हैं. उन्होंने 1 जनवरी 2018 से अब तक खेली 9 टेस्ट की 18 पारियों में 660 रन बनाए हैं. इस दौरान उनका औसत 36.66 का रहा है.

टेस्ट-09, पारी-18, रन- 660, औसत-36.66, बेस्ट- 152, 100/50- 2/2

केन विलियम्सन (न्यूजीलैंड)

टेस्ट क्रिकेट में साल 2018 में नंबर 3 पर रन बनाने का सबसे बेहतरीन औसत न्यूजीलैंड के बल्लेबाज और कप्तान केन विलियम्सन का रहा है. केन ने 2018 में खेली 6 टेस्ट की 10 पारियों में 66.77 की दमदार औसत से 601 रन बनाए हैं, जिसमें 2 शतक और 3 अर्धशतक शामिल रहे.

टेस्ट-06, पारी-10, रन- 601, औसत-66.77, बेस्ट- 139, 100/50- 2/3

मिडिल ऑर्डर: (4-6)

विराट कोहली (भारत)

इसमें दो राय नहीं कि ICC टेस्ट रैंकिंग में नंबर वन पर बैठे विराट कोहली नंबर 4 की बैटिंग पोजिशन के लिए सबकी पहली पसंद होंगे. इसकी गवाही साल 2018 के उनके आंकड़े भी देते हैं. 1 जनवरी 2018 से अब तक विराट न सिर्फ नंबर 4 की पोजिशन पर बल्कि ओवरऑल सबसे ज्यादा टेस्ट रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. उन्होंने 12 टेस्ट मैच की 22 पारियों में 56.36 की औसत से 1240 रन बनाए हैं, जिसमें 5 शतक और 4 अर्धशतक शामिल हैं. विराट की कप्तानी में टीम इंडिया इस वक्त टेस्ट की नंबर 1 टीम है, तो इस लिहाज इस टीम के मुखिया भी विराट कोहली ही होंगे.

टेस्ट-12, पारी-22, रन- 1240, औसत-56.36, बेस्ट- 153, 100/50- 5/4

मुस्फिकुर रहीम (बांग्लादेश)/ विकेटकीपर

मुस्फिकुर रहीम की इमेज एक फाइटर की है. बांग्लादेश के लिए कई मुकाबले उन्होंने अकेले संघर्ष कर जीते हैं. विकेट के आगे रहे तो बल्ले से और पीछे खड़े हुए तो दमदार कीपिंग से. जनवरी 2018 से अब तक टेस्ट क्रिकेट में दोहरा शतक जमाने वाले रहीम इकलौते विकेटकीपर बल्लेबाज हैं. उन्होंने नवंबर 2018 में जिम्बाब्वे के खिलाफ ढाका टेस्ट में नाबाद 219 रन की पारी खेली थी.

टेस्ट-08, पारी-15, रन- 490, औसत-35.00, बेस्ट- 219*, 100/50- 1/1

जेसन होल्डर (वेस्टइंडीज)

टेस्ट क्रिकेट के बेहतरीन ऑलराउंडर्स में इस वक्त जेसन होल्डर का भी एक नाम है. होल्डर की खासियत का अंदाजा आप उनके इन आंकड़ों से भी लगा सकते हैं, जिसकी स्क्रिप्ट उन्होंने मैदान पर गेंद और बल्ले से लिखी है. 1 जनवरी 2018 के बाद से अब तक होल्डर ने अपने बल्ले से 6 टेस्ट में 336 रन बनाए हैं, 37.33 की औसत के साथ. वहीं, इतने ही टेस्ट में गेंद से उन्होंने कुल 33 विकेट चटकाए और वेस्टइंडीज के दूसरे सबसे सफल गेंदबाज रहे. इस दौरान उन्होंने 4 बार 5 विकेट और 1 बार 10 विकेट लिया.

टेस्ट-06, रन- 336, औसत-37.33, बेस्ट- 74, 100/50- 0/2, विकेट- 33, 5 विकेट- 4 बार, 10 विकेट- 1 बार

लोअर ऑर्डर: (7-11)

जेम्स एंडरसन (इंग्लैंड)

दाएं हाथ के तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन इंग्लैंड ही नहीं वर्ल्ड क्रिकेट के महान तेज गेंदबाजों में शुमार हैं. अपनी गेंदों की धार, रफ्तार और स्विंग से वो एक से बढ़कर एक दिग्गज बल्लेबाजों को छका चुके हैं. मौजूदा टेस्ट गेंदबाजों के बीच सबसे ज्यादा अनुभव रखने वाले एंडरसन का प्रदर्शन साल 2018 में भी उम्दा रहा है. इस साल जनवरी से अब तक खेले 12 टेस्ट में वो 43 विकेट झटक चुके हैं.

टेस्ट- 12, विकेट- 43, बेस्ट-5/20, औसत- 22.51, 5 विकेट- 1 बार

मोहम्मद अब्बास (पाकिस्तान)

साल 2018 में टेस्ट क्रिकेट में अगर कोई सबसे कम औसत और इकॉनोमी वाला गेंदबाज रहा है तो वो हैं पाकिस्तान के मीडियम पेसर मोहम्मद अब्बास. जनवरी 2018 से अबतक खेले 7 टेस्ट में अब्बास ने 13.76 की औसत और 2.27 की इकॉनोमी से कुल 38 विकेट झटककर पाकिस्तान के सबसे सफल गेंदबाज रहे हैं.

टेस्ट- 07, विकेट- 38, बेस्ट-5/33, औसत- 13.76, 5 विकेट- 3 बार, 10 विकेट- 1 बार

काइल जर्विस (जिम्बाब्वे)

मौजूदा टेस्ट गेंदबाजों की जमात में जिम्बाब्वे के काइल जर्विस अभी नए नए हैं, लेकिन जितने भी मौके उन्हें मिले हैं, अपनी काबिलियत का परचम उन्होंने बखूबी लहराया है. जनवरी 2018 से अब तक जर्विस ने 2 टेस्ट खेले हैं और 15.42 की औसत से 10 विकेच चटकाए हैं. बड़ी बात ये है इन 2 टेस्टों में ही जर्विस एक बार 5 विकेट लेने का कमाल भी कर चुके हैं.

टेस्ट- 02, विकेट- 10, बेस्ट-5/71, औसत- 15.42, 5 विकेट- 1 बार

नाथन लियॉन (ऑस्ट्रेलिया)

पर्थ टेस्ट में भारत की करारी हार की स्क्रिप्ट लिखने वाले नाथन लियॉन इस साल सिर्फ स्पिनरों ही नहीं बल्कि पूरे गेंदबाजों की जमात में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए हैं. जनवरी 2018 से अब तक खेले 9 टेस्ट में लियॉन 48 विकेट चटका चुके हैं. इस दौरान उनका औसत 31.60 का रहा है.

टेस्ट- 09, विकेट- 48, बेस्ट-6/122, औसत- 31.60, 5 विकेट- 2 बार

राशिद खान (अफगानिस्तान)

साल 2018 में अफगानिस्तान की टीम ने एक भी टेस्ट मैच नहीं खेला है. लेकिन, चूंकि साल 2018 की टेस्ट की बेस्ट प्लेइंग इलेवन क्रिकेट के इस फॉर्मेट में शिरकत करने वाले सभी 11 देशों के खिलाड़ियों से मिलकर बननी थी, तो इस लिहाज से राशिद खान को इसमें जगह मिली