खेल के सबसे लंबे प्रारूप टेस्‍ट क्रिकेट में दर्शकों की घटती संख्‍या को देखते हुए इसे पांच से घटाकर चार दिन का किए जाने का प्रस्‍ताव आईसीसी की तरफ से रखा गया. दर्शकों की घटती संख्‍या को देखते हुए ही आईसीसी टेस्‍ट क्रिकेट को छोटा करना चाहती है. इसके बाद से ही तमाम क्रिकेट दिग्‍गज इस प्रस्‍ताव का विरोध कर रहे हैं. इस मामले में इंग्‍लैंड के स्‍टार ऑलराउंडर बेन स्‍टोक्‍स (Ben Stokes) की तरफ से भी प्रतिक्रिया दी गई. Also Read - ECB ने दिया तगड़ा झटका, IPL 2021 के बाकी बचे मैचों में नहीं खेलेंगे इंग्लिश खिलाड़ी, बोले- हमारे पास...

बेन स्टोक्स (Ben Stokes) ने मंगलवार को कहा कि अगर टेस्ट क्रिकेट के नियम बदले जाते हैं तो फिर इसका नाम बदल कर सरल क्रिकेट रख देना चाहिए. Also Read - ऑस्ट्रेलिया के बाद IPL छोड़कर स्वदेश जाने की तैयारी में हैं इंग्लैंड के खिलाड़ी; ECB ने जारी किया बयान

स्टोक्स ने न्यूजीलैंड के स्पिन गेंदबाज ईश सोढ़ी के साथ इंस्टाग्राम पर बात करते हुए कहा, “मेरे लिए टेस्ट क्रिकेट सबसे ऊपर है. टेस्ट क्रिकेट के खत्म होने को लेकर काफी चर्चा हो रही है, लेकिन मुझे नहीं पता कि ये बात कहां से आई. आप खिलाड़ियों से पूछिए हो सकता है सारे नहीं लेकिन विराट कोहली, जो रूट जैसे खिलाड़ियों ने कहा है कि टेस्ट क्रिकेट ही खिलाड़ी की असली परीक्षा है.” Also Read - राजस्‍थान में अब बचे हैं केवल 4 विदेशी, अन्‍य फ्रेंचाइजीज से लोन पर मांगे खिलाड़ी, जानें इसपर क्‍या कहते हैं IPL नियम ?

बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने कहा, “वहां आपको पता चलता है कि आप कैसे क्रिकेटर हो और मेरे लिए यह सबसे शुद्ध प्रारूप है. इसे रहना चाहिए. अगर टेस्ट क्रिकेट बदला जाता है तो यह दुखद होगा. अगर नियम बदले जाते हैं तो इसे आसान क्रिकेट कह दीजिए.”

इंग्लैंड ने बीते साल नाटकीय अंदाज में पहली बार विश्व कप जीता था. स्टोक्स उस मैच के हीरो थे. इस खिलाड़ी ने कहा है कि साल 2019 इंग्लैंड के लिए हमेशा यादगार रहेगा.

बेन स्‍टोक्‍स (Ben Stokes) ने कहा, “इंग्लैंड में 2019 हमेशा याद रखा जाएगा. हमने जो इस साल किया था उसे देखकर लगता है कि 2019, 2005 को पीछे कर देगा. 2005 हमारे लिए बड़ा साल था, यह काफी साल पहले हुआ था, लेकिन इसने देश में क्रिकेट को बदल दिया था. मुझे लगता है कि हम इसे और आगे ले गए हैं.”