दो साल पहले भारतीय टीम से टेस्ट सीरीज हारने का मलाल ऑस्ट्रेलिया को अभी तक है. उसके मुख्य कोच जस्टिन लैंगर (Justin Langer) ने टीम इंडिया के खिलाफ अपनी सभी रणनीतियां तैयार कर ली हैं. लैंगर का मानना है कि उनकी टीम के गेंदबाज इस बार पिछली टेस्ट सीरीज (2018-19) की तुलना में बेहतर बॉलिंग करके दिखाएंगे. Also Read - भारत-ऑस्ट्रेलिया एडिलेड में ही खेलेंगे पहला टेस्ट: क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया

पिछले दौरे पर टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को पहली बार उसके घर में टेस्ट सीरीज में 2-1 से मात दी थी. यह पहला मौका था, जब किसी एशियाई टीम ने ऑस्ट्रेलिया को उसकी सरजमीं पर हराया था. तब कंगारुओं की इस हार का कारण स्टीव स्मिथ (Steve Smith) और डेविड वॉर्नर (David Warner) की अनुपस्थिति था. जो बॉल टेम्परिंग के कारण 1 साल का बैन झेल रहे थे. Also Read - India vs Australia: 'टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को हराने के लिए भारत को ख्यालों से बाहर आना होगा'

द एज अखबार ने लैंगर के हवाले से लिखा है, ‘अगर मैं उस समय (2018-19) को याद करता हूं तो हम मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (MCG) में टॉस हार गए थे. पर्थ टेस्ट मैच जीतने के बाद हम एक फ्लैट विकेट पर टॉस हार गए थे. भारत ने लगभग दो दिन गेंदबाजी की थी. इसके बाद हमें सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (SCG) में खेलना था और वहां की भी विकेट फ्लैट थी.’ Also Read - Yuzvendra Chahal ने जीवन के अंत तक मांगा साथ तो मंगेतर Dhanashree Verma ने इस काम के लिए कर दी ब्रेक की डिमांड

लैंगर ने कहा इस बार उनका बॉलिंग अटैक अब 2 साल बाद काफी चतुर हो गया है और वह इस बार भारतीय खिलाड़ियों के सामने वे अच्छा चैलेंज पेश करेंगे.