कोरोना वायरस महामारी ने पूरी दुनिया में अपना पांव पसारना शुरू कर दिया है. इस वायरस की वजह से अब तक विश्व में चार हजार से अधिक लोगों की जानें जा चुकी हैं जबकि एक लाख से अधिक लोग संक्रमित हैं. इसकी वजह से देश-विदेश में कई खेल के टूर्नामेंट स्थगति कर दिए गए हैं. इस वर्ष जापान के टोक्यो में जुलाई-अगस्त में ओलंपिक का आयोजन होना है. ऐसे में इस वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए टोक्यो ओलंपिक की मेजबानी पर भी संशय के बादल मंडराने लगे हैं. Also Read - Covid-19 की वजह से स्थिति बिगड़ने पर रद्द हो सकता है ओलंपिक: अधिकारी

Coronavirus के चलते रोड सेफ्टी वर्ल्‍ड सीरीज रद्द, सचिन तेंदुलकर बोले- अब हमें…. Also Read - Lockdown पर WHO की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन की चेतावनी- परिणाम होंगे भयानक

इंटरनेशनल ओलंपिक समिति (आईओसी) के अध्यक्ष थॉमस बाक ने गुरुवार को कहा कि कोरोना वायरस महामारी को देखते हुए टोक्यो ओलंपिक को रद्द या स्थगित करने के मामले में आईओसी विश्व स्वास्थ्य संगठन (आईओसी) की सिफारिशों का पालन करेगी. Also Read - Sharath Kamal ने चौथी बार किया ओलंपिक के लिए क्वालीफाई

जर्मन टेलीविजन एआरडी को दिये गये साक्षात्कार में बाक ने कहा कि आईओसी फरवरी के मध्य से ही इस मामले को लेकर डब्ल्यूएचओ के विशेषज्ञों के संपर्क में है. उन्होंने कहा, ‘हम डब्ल्यूएचओ की सलाह का अनुसरण करेंगे.’

बाक ने इसके साथ ही जोड़ा कि आईओसी अब भी टोक्यो में सफल खेलों के तैयारियों पर काम कर रही है. कोरोना वायरस को रोकने  के लिए अधिकतर देशों ने कड़े कदम उठाए हैं जिसके कारण कई ओलंपिक क्वालीफायर्स रद्द करने पड़े हैं और बाक ने भी माना कि क्वालीफाईंग प्रतियोगिताओं को लेकर गंभीर समस्या है.

AUS vs NZ: केन रिचर्ड्सन का कोरोनावायरस की जांच के लिए हुआ टेस्‍ट, पहले वनडे से किया गया बाहर

उन्होंने कहा, ‘यहां हमें लचीला रवैया अपनाना होगा. प्रतियोगिताओं को स्थगित करके या क्वालीफिकेशन मानदंडों में बदलाव करके ऐसा किया जा सकता है.’ बाक ने कहा कि विशेषकर कोविड-19 से बुरी तरह प्रभावित देशों के खिलाड़ियों को इन मुश्किल परिस्थितियों में उचित क्वालीफिकेशन देना जरूरी है.

कोरोना की वजह से क्रिकेट के कई मैच खाली स्टेडियम में खेले जा रहे हैं. इसका पहला उदाहरण ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के खिलाफ गुरुवार को सिडनी में जारी पहले वनडे में देखा गया जहां मैच के दौरान पूरा स्टेडियम खाली है.