नई दिल्ली : ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन का मानना है कि उनकी अनुभवहीन टीम में भारत से आगे निकलने की क्षमता है लेकिन अब भी काफी काम करना बाकी है. तीसरे टेस्ट मेलबर्न में बुधवार से शुरू होगा जबकि चार मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर चल रही है. पेन ने भारत के खिलाफ बॉक्सिंग डे टेस्ट से पहले कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि हम उन पर हावी हो गए हैं. हमें महसूस हो रहा है कि हम प्रत्येक टेस्ट के साथ बेहतर हो रहे हैं.’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम प्रत्येक मैच के साथ सुधार कर रहे हैं लेकिन हमें अच्छा टेस्ट क्रिकेट खेलना जारी रखने की जरूरत है. अगर अगले चार से पांच दिन हम ऐसा कर पाए तो फिर मुझे लगता है कि दबदबा बना सकते हैं. निश्चित तौर पर जब आपकी टीम अनुभवहीन होती है और आप दुनिया की नंबर एक टीम के खिलाफ पर्थ जैसी बड़ी जीत दर्ज करते हो तो खिलाड़ियों में थोड़ा आत्मविश्वास आता है और हम पर्थ की तुलना में मेलबर्न बेहतर अहसास के साथ आए हैं.’’

जडेजा की फिटनेस के मामले में आया नया मोड़, प्रसाद ने काटी शास्त्री की बात

भारत ने बॉक्सिंग डे टेस्ट के लिए तीन बदलाव करते हुए मयंक अग्रवाल, रोहित शर्मा और रविंद्र जडेजा को प्लेइंग में शामिल किया है जबकि मुरली विजय और लोकेश राहुल के साथ तेज गेंदबाज उमेश यादव को टीम से बाहर कर दिया गया है. पेन ने कहा, ‘‘भारत के बदलावों से हमें फर्क नहीं पड़ता क्योंकि उनके सभी खिलाड़ियों को लेकर हम हफ्तों से योजना बना रहे हैं. हम उन सभी को लेकर तैयार हैं. वे क्या करते हैं यह उनका काम है और हमारा ध्यान अपने काम पर है.’’

पेन ने कहा कि टीम की कमान संभालने के बाद की यात्रा उनके लिए सीखने का दौर है. उन्होंने कहा, ‘‘मैं काफी बदलाव नहीं लाया. मुझे टीम में जगह और यह जिम्मेदारी उस समय मिली जब मैं क्रिकेटर और व्यक्ति के रूप में काफी चीजों का सामना कर चुका था. मैं दोबारा दावेदारी में आने वाले अधिकांश खिलाड़ियों से अधिक उम्र का हूं इसलिए जीवन को लेकर मेरा अनुभव अधिक है. मैंने चीजों को ऐसे ही रखा है और अब तक इसने ठीक काम किया है. बदलाव की कोई जरूरत नहीं है.’’

कोहली ने राहुल और विजय पर गिराई गाज, बॉक्सिंग डे टेस्ट में नई ओपनिंग जोड़ी बचाएगी ‘लाज’

ऑस्ट्रेलिया ने अपनी टीम में एक बदलाव करते हुए पीटर हैंड्सकोंब की जगह मिशेल मार्श को टीम में शामिल किया है. पेन ने कहा कि यह बदलाव गेंदबाजी को देखते हुए किया गया और इससे उनके चार गेंदबाजों के आक्रमण को मदद मिलेगी. उन्होंने साथ ही कहा कि सिडनी टेस्ट के लिए हैंड्सकोंब की टीम में वापसी हो सकती है.

उन्होंने कहा, ‘‘हमने पिछले साल एशेज के दौरान भी ऐसा किया था और यह फैसला मुख्य रूप से इस पर आधारित है कि काफी गर्मी होगी और गेंदबाजों को बड़ी भूमिका निभानी होगी. हमें लगता है कि मिशेल आकर बल्ले से अच्छी भूमिका निभा सकता है और हमारे गेंदबाजों का भी अच्छा सहयोग होगा.’’ पेन ने कहा, ‘‘पीटर को पता है कि हम कुछ चीजों में उनसे सुधार चाहते हैं. सिडनी में आम तौर पर स्पिन होती है, मुझे लगता है कि वह वहां वापसी कर सकता है क्योंकि स्पिन के खिलाफ वह हमारा सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी है.’’

पिछले साल एशेज टेस्ट के लिए खराब रेटिंग मिलने के बाद एमसीजी की पिच पर इस बार घास छोड़ी गई है लेकिन पेन ने अपने कोच जस्टिन लैंगर के सुर में सुर मिलाए जिन्होंने सतर्क करते हुए कहा था कि इसे अधिक तवज्जो नहीं दी जानी चाहिए. पेन ने कहा कि अगर मौका मिला तो वह एमसीजी पर पहले बल्लेबाजी करना पसंद करेंगे. उनका साथ ही मानना है कि पिच चाहे कैसी भी हो इस पर आफ स्पिनर नाथन लियोन की भूमिका महत्वपूर्ण होगी.