इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच एशेज सीरीज का रोमांच जगजाहिर है. हाल में दोनों टीमों के बीच ये सीरीज ड्रॉ पर संपन्न हुई थी. सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड के स्टार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने नाबाद शतकीय पारी खेल इंग्लैंड को जीत दिलाई थी.

भारतीय महिला क्रिकेट टीम ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 50 रन बनाकर जीता मैच, T20 सीरीज में 4-0 से आगे

हाल में स्टोक्स की एक किताब ‘ऑन फायरः माई स्टोरी इंग्लैंड्स समर’ लॉन्च हुई है जिसमें उनका कहना है कि एशेज सीरीज के दौरान तीसरे टेस्ट मैच में जो उन्होंने नाबाद 135 रन की पारी खेली थी वो ऑस्ट्रेलियाई ओपनर डेविड वॉर्नर के लगातार स्लेजिंग से प्रेरित थी.

स्टोक्स के इस बयान को ऑस्ट्रेलियाई टेस्ट टीम के कप्तान टिम पेन ने खंडन किया है. पेन का कहना है कि स्टोक्स ने किताब बेचने के लिए वॉर्नर के नाम का इस्तेमाल किया है.

स्टोक्स ने अपनी किताब में लिखा है, इस साल एशेज सीरीज के दौरान हेडिंग्ले में खेली गई मेरी मैच विजेता पारी वार्नर द्वारा की जा रही लगातार स्लेजिग का परिणाम थी.’

AFGvWI 3rd T20: अफगानिस्तान ने विंडीज को 29 रन से हराकर भारत में 2-1 से जीती सीरीज

पेन का कहना है कि उस समय वह खुद वॉर्नर के साथ स्लिप में मौजूद थे. बकौल पेन, ‘मैं स्लिप में पूरे समय वॉर्नर के पास ही खड़ा था और आपको मैदान पर बात करने की इजाजत होती है. लेकिन वह स्टोक्स को न ही अपशब्द बोल रहे थे न ही छींटाकशी कर रहे थे. अपनी किताब बेचने के लिए वॉर्नर के नाम का उपयोग करना इंग्लैंड में प्रचलन बन गया है. इसलिए स्टोक्स को शुभकामनाएं.’

पेन ने साथ ही कहा कि वॉर्नर ने उस पूरी सीरीज में खुद को अच्छे से संभाला था.

उन्होंने कहा, ‘मैं उनके पास ही खड़ा था. मुझे किसी तरह की परेशानी नहीं आई. एशेज के दौरान वॉर्नर ने खुद को जिस तरह से संभाला वो शानदार है. खासकर तब जब वह रन नहीं बना पा रहे थे.’

क्या लिखा है किताब में

स्टोक्स ने लिखा है कि डेविड वॉर्नर ने उनसे कुछ ऐसे शब्द कहे थे, जिसने उन्हें अविश्वसनीय पारी खेलने को प्रेरित किया. स्टोक्स ने लिखा, ‘बहुत से ऑस्ट्रेलियन खिलाड़ी मुझे गलत शॉट खेलने के लिए उकसा कर रहे थे. लेकिन सबसे ज्यादा डेविड वॉर्नर मेरा ध्यान बांटने की कोशिश कर रहे थे.’

हेंडिंग्ले टेस्ट में इंग्लैंड को जीत के लिए 359 रन चाहिए थे. एक समय इंग्लैंड के 9 विकेट 286 रन पर गिर चुके थे. इसके बाद स्टोक्स ने जैक लीच के साथ अंतिम विकेट पर 76 रन की साझेदारी कर मैच इंग्लैंड की झोली में डाल दिया. इस जीत से इंग्लैंड की टीम सीरीज में 1-1 की बराबरी करने में सफल रही.