मेलबर्न: ऑस्‍ट्रेलिया की क्रिकेट टीम अपने खेलना तरीका बदलेगी. लंबे समय तक आईसीसी की टेस्‍ट और वनडे रैंकिंग में नंबर वन पर रही ऑस्‍ट्रेलियाई टीम के लिए स्‍लेजिंग काफी महत्‍वपूर्ण रहा है. यह उनकी रणनीति का हिस्‍सा होता है, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. टीम स्‍लेजिंग नहीं करेगी. टीम कल्‍चर में भी बदलाव होगा. Also Read - IPL 2021: राजस्थान रॉयल्स में बड़े बदलाव, Sanju Samson कप्तान, स्टीव स्मिथ बाहर

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के नए टेस्ट कप्तान टिम पेन ने कहा है कि उनकी कप्तानी में टीम छींटाकाशी (स्लेजिंग) में कमी लाएगी. 33 साल के पेन को स्टीव स्मिथ की जगह टीम का नया टेस्ट कप्तान बनाया गया है. स्मिथ पर बॉल टेम्परिंग मामले में एक साल का प्रतिबंध लगा हुआ है. बीबीसी ने पेन के हवाले से कहा, “मुझे लगता है कि क्या बोलना है और कैसे बोलना है, यह चीजें आने वाले समय में काफी अलग होने वाली हैं. उनकी (स्मिथ) की कप्तानी में काफी कुछ बोलने की संस्कृति शुरू हो गई थी.” पेन ने कहा कि टीम कल्चर में बदलाव लाने के लिए वह स्मिथ से बात करना जारी रखेंगे. Also Read - IND vs AUS: ऑस्ट्रेलिया की हार पर आई Ricky Ponting की प्रतिक्रिया, कही यह दर्दभरी बात

स्‍लेजिंग नहीं होगा रणनीति का हिस्‍सा
यह पूछे जाने पर कि क्या छींटाकाशी ऑस्ट्रेलियाई टीम की रणनीति का हिस्सा बना रहेगा, पेन ने कहा, “नहीं, मुझे नहीं लगता है कि अब ऐसा होगा. मेरा मानना है कि विपक्षी टीम से बात करने का हमेशा एक समय और स्थान होता है. लेकिन आगे आने वाले समय में क्या बोलना है और कैसे बोलना है, यह काफी अलग होने वाला है.” Also Read - India vs Australia- अगर भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज ड्रॉ हुई तो यह पिछली हार से भी बुरी: Ricky Ponting

ऑस्‍ट्रेलियाई टीमों के कप्‍तान स्‍लेजिंग का अलग-अलग तरीके से इस्‍तेमाल करते रहे हैं. पूर्व कप्‍तान स्‍टीव वॉ ने इसे मेंटल डिसइंटिग्रेशन नाम दिया था. विपक्षी टीमों के दौरे से ठीक पहले प्रमुख खिलाडि़यों को निशाना बनाना उनकी रणनीति का अहम हिस्‍सा था. रिकी पोंटिंग और माइकल क्‍लार्क के दौर में भी यह बदस्‍तूर जारी रहा. टिम पेन की मानें तो स्‍टीव स्मिथ की कप्‍तानी में इसका उपयोग और बढ़ गया था.

अक्‍टूबर तक करना होगा इंतजार
ऑस्ट्रेलिया को सीमित ओवरों की सीरीज के लिए जून में इंग्लैंड का दौरा करना है. टीम अब अक्टूबर में ही पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेलेगी. उससे पहले टीम का कोई टेस्ट कार्यक्रम नहीं है. टेस्ट कप्तान ने कहा, “मैं फिर से लोगों का विश्वास जीतने और अपनी सकारात्मक भूमिका निभाने के लिए तैयार हूं. हमारे प्रशंसकों और आस्ट्रेलियाई लोगों का सम्मान करना हमारी पहली प्राथमिकता है. आने वाले दिनों में यह पहली प्राथमिकता है.”

पेन की कप्‍तानी में टीम ने दक्षिण अफ्रीका सीरीज में जब टेस्‍ट मैच खेला था तो मेजबान टीम ने उनके बदले व्‍यवहार की चर्चा की थी. डीन एल्‍गर जैसे खिलाडि़यों ने बताया था कि लग ही नहीं रहा था कि ये वही टीम है जिसके खिलाफ उन्‍होंने पहले मैच खेले हैं. इसकी शुरुआत तभी से हो गई थी जब टेस्‍ट मैच की शुरुआत से पहले सभी ऑस्‍ट्रेलियाई खिलाडि़यों ने मैदान पर दक्षिण अफ्रीकी खिलाडि़यों से हाथ मिलाया. हालांकि, टीम के कल्‍चर में वास्‍तव में कोई बदलाव होगा या नहीं, यह जानने के लिए अक्‍टूबर तक का इंतजार करना होगा.