ऑकलैंड में खेले गए पहले दो मुकबलों में जीत दर्ज कर भारत ने न्‍यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचों की टी20 सीरीज में 2-0 से बढ़त बना ली है. चोट के बाद वापसी करने वाले जसप्रीत बुमराह की किफायती गेंदबाजी से न्‍यूजीलैंड के विकेटकीपर बल्‍लेबाज टिम सेफर्ट काफी प्रभावित हैं. Also Read - साउथम्पटन में खेला जाएगा भारत-न्यूजीलैंड के बीच होने वाला ICC विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल: सौरव गांगुली

टिम सेफर्ट ने कहा कि भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की विविधतापूर्ण गेंदबाजी को समझना मुश्किल है और उनकी टीम को अगर टी20 सीरीज में वापसी करनी है तो उसे भारत से सीखना होगा कि परिस्थितियों से कैसे सामंजस्य बिठाया जाता है. Also Read - क्या सच में Jasprit Bumrah की दुल्हनियां बनने जा रही हैं अनुपमा परमेश्वरन? हुआ चौंकाने वाला खुलासा

पढ़ें:- विराट कोहली और जसप्रीत बुमराह मौजूदा समय के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज और गेंदबाज: मैक्ग्रा Also Read - साउथम्पटन के स्टेडियम में खेला जा सकता है ICC Test Championship फाइनल मैच: रिपोर्ट

टिम सेफर्ट ने कहा, ‘‘यहां तक कि पहले मैच में भी बुमराह ने धीमी गेंदे की. अमूमन डेथ ओवरों में गेंदबाज सीधी लाइन पर गेंद करते हैं. इसके अलावा यार्कर करते हैं. वह अपनी गेंदों में काफी बदलाव करते हैं और उसे खेलना मुश्किल है.’’

इस मैच में 26 गेंदों पर नाबाद 33 रन बनाने वाले इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने कहा, ‘‘गेंद काफी रुककर आ रही थी जिससे मुश्किलें बढ़ी. इसलिए एक बल्लेबाज के रूप में आपको कुछ अवसरों पर विकेट से हटकर यह देखना होता कि क्या गेंद सीधी लाइन पर आ रही है. मैं विकेटों पर खड़ा रहने के बजाय कुछ अलग करने में विश्वास करता हूं.’’

भारतीय बल्‍लेबाजों से सीखना होगा

उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों को भारतीय बल्लेबाजों से सीखना चाहिए कि परिस्थितियों से जल्द से जल्द कैसे तालमेल बिठाया जाता है.

पढ़ें:- रणजी टूर्नामेंट के दौरान इंडिया ए के NZ दौरे पर भड़के सुनील गावस्‍कर, ‘IPL के दौरान….’

सेफर्ट ने कहा, ‘‘भारतीय बल्लेबाजों ने दिखाया कि कैसे गेंद की लाइन में आकर सही टाइमिंग से उसे खेलना है. धीमे विकेट पर आपको इस तरह का खेल दिखाना होता है. उनकी (गेंदबाजों) लाइन बिगाड़ने की कोशिश करो, अच्छी गेंद पर भी शॉट लगाने के लिये सही स्थिति में आओ. टी20 क्रिकेट में यह महत्वपूर्ण होता है. भारतीय बल्लेबाजों ने ऐसा अच्छी तरह से किया.’’

सेफर्ट ने कहा कि न्यूजीलैंड के गेंदबाजों ने पहले दो मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन भारतीय बल्लेबाज उन पर पूरी तरह हावी रहे.  ‘‘ईमानदारी से कहूं तो पहले मैच में उनका स्कोर एक विकेट पर 110 था और उनके पास विकेट बचे थे. हमने पहले मैच में खराब गेंदबाजी नहीं की थी. दूसरे मैच में हम केवल 130 रन ही बना पाये और ईडन पार्क पर इस स्कोर का बचाव करना मुश्किल था.’’