पूर्व भारतीय दिग्गज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) उन बल्लेबाजों में से हैं जिनके विकेट पर पूरा खेल टिका रहता था। विपक्षी टीम भी जानतीं थी कि अगर तेंदुलकर को पवेलियन वापस भेज दिया को खेल उनके पलड़े में आ जाएगा। ऐसे में तेंदुलकर कई बार अंपायर के गलत फैसलों के शिकार भी बने। सचिन को सबसे ज्यादा बार आउट देने वाले अंपायर थे स्टीव बकनर(Steve Bucknor)।Also Read - IND vs SA, 2nd ODI: मलान-डी कॉक की शानदार बल्‍लेबाजी से 7 विकेट से हारा भारत, 0-2 से सीरीज भी गंवाई

अब इतने सालों बाद आईसीसी के पूर्व अंपायर बकनर ने भारत के महान बल्लेबाज को दो बार गलत आउट देने के किस्सों को याद किया है। बकनर ने 2003 में गाबा में खेले गए मैच को याद किया जिसमें उन्होंने सचिन को एलबीडब्ल्यू आउट दे दिया था। बकनर ने कहा कि गलतियां इंसान से ही होती हैं। Also Read - IPL के लिए भारतीय मूल के इंग्लिश खिलाड़ी ने छोड़ा कोच का पद, इस फ्रेंचाइजी से मिलाया हाथ !

बकनर ने अब कहा है कि जेसन गिलेस्पी की गेंद स्टंप के ऊपर से जा रही थी। उन्होंने वो भी मैच याद किया जिसमें उन्होंने 2005 में ईडन गार्डन्स स्टेडियम में खेले गए मैच में अब्दुल रज्जाक की गेंद पर सचिन को कैच आउट दे दिया था। Also Read - Sachin Tendulkar के फैन Sudhir Kumar को बिहार पुलिस ने पीटा, DSP से शिकायत

बकनर ने बारबाडोस के मेसन एंड गेस्ट नाम के रेडियो कार्यक्रम में कहा, “सचिन को दो बार आउट दिया था वो दो गलतियां थीं। मुझे नहीं लगता कि कोई अंपायर गलती करना चाहता है। ये उसके साथ रहती हैं और उसका भविष्य बर्बाद हो जाता है।”

उन्होंने कहा, “गलती इंसान ही करता है। एक बार आस्ट्रेलिया में, मैंने उन्हें एलबीडब्ल्यू आउट दिया था और गेंद स्टम्प के ऊपर से जा रही थी। एक और बार, भारत में मैंने उन्हें कैच आउट दे दिया था। बल्ले से गुजरने के बाद गेंद ने अपनी दिशा बदली थी लेकिन बल्ला नहीं लगा था और गेंद विकेटकीपर के पास गई। ये मैच ईडन गार्डन्स में था। ईडन में जब आप हो और भारत बल्लेबाजी कर रहा है तो आप सुन नहीं सकते।”

उन्होंने कहा, “क्योंकि 100,000 दर्शक शोर मचा रहे होते हैं। ये वो गलतियां थीं जिनको लेकर मैं नाखुश हूं। इंसान गलती करता है और गलती मानना जिंदगी का हिस्सा है।”