इस सीजन आईपीएल (IPL 2020) में अपने बल्ले का जलवा जमकर दिखाने वाले केरल के युवा बल्लेबाज देवदत्त पडीक्कल (Devdutt Padikkal) के हौसलें बुलंद हैं और उन्होंने अब अपना अगला लक्ष्य निर्धारित कर लिया है. पडीक्कल ने कहा कि आईपीएल में कामयाबी हासिल करने के बाद अब उनका अगला टारगेट टीम इंडिया के लिए खेलना है. इस बीच पडीक्कल ने बताया कि आईपीएल में सबसे ज्यादा चैलेंजिंग फास्ट बॉलर को खेलना नहीं बल्कि राशिद खान (Rashid Khan) का सामना करना बताया है. Also Read - KL Rahul का दावा, Marnus Labuschagne नहीं बना पाएंगे भारत के खिलाफ ज्‍यादा रन, बताई ये वजह

इस 20 वर्षीय युवा लेफ्टहैंडर बल्लेबाज ने इस सीजन रॉयल चैलेंजर बैंगलोर (RCB) की ओर से आईपीएल में पदार्पण किया. अनकैप्ड खिलाड़ियों वह सबसे ज्यादा कामयाब खिलाड़ी के रूप में उभरे और उन्होंने अपनी टीम आरसीबी के लिए इस सीजन सबसे ज्यादा रन अपने नाम किए. अपने पहले ही आईपीएल सीजन में 5 हाफ सेंचुरी जमाने वाले पडीक्कल ने कुल 473 रन अपने नाम किए, जो विराट कोहली (466) और एबी डीविलियर्स (454) से भी ज्यादा रहे. Also Read - IND vs AUS, 1st ODI: मैच से दो दिन पहले भी एकजुट होकर तैयारी नहीं कर पा रहे कंगारू खिलाड़ी, Matthew Wade ने बताई परेशानी

अपनी आईपीएल कामयाबी के बाद इस युवा खिलाड़ी क्रिकेट वेबसाइट क्रिकइन्फो को दिए इंटरव्यू में क्रिकेट से जुड़ी कई अहम बातों पर अपनी राय रखी. इस दौरान उनसे सवाल पूछा गया था कि आईपीएल में उन्होंने जसप्रीत बुमराह, पैट कमिंस और जोफ्रा आर्चर जैसे तेज गेंदबाजों का सामना किया, जिनका विश्व क्रिकेट में बहुत नाम है. तो क्या आप अपनी बैटिंग को एक स्तर और आगे ले गए हो. Also Read - India vs Australia: भारत के खिलाफ सीरीज से पहले कंगारू बल्लेबाज ने भरी हुंकार, कहा-अब लय हासिल कर ली है

इसके जवाब में इस युवा बल्लेबाज ने कहा, ‘हां, घरेलू क्रिकेट के मुकाबले यह (IPL) एक अलग ढंग का चैलेंज है. लेकिन मुझे पता था कि मैं इस चैलेंज के लिए तैयार हूं. क्योंकि हमें आईपीएल शुरू होने से 3 सप्ताह पहले ही जोरदार प्रैक्टिस कराई गई थी.’

इसके बाद इस खिलाड़ी से सवाल पूछा गया तो फिर किस गेंदबाज के खिलाफ ऐसा लगा कि आपने पहले कभी ऐसी पेस का सामना नहीं किया?
इसके जवाब में देवदत्त ने बताया, ‘गति तो नहीं, क्योंकि घरेलू स्तर पर ऐसे कई गेंदबाज हैं, जो अच्छेखासे तेज हैं. अगर ऐसे गेंदबाज की बात है, जिसका सामना करना चुनौतीपूर्ण था तो वह राशिद खान (Rashid Khan) थे. क्योंकि उनके पास सचमुच सही गति है और उसी रफ्तार पर अच्छा टर्न भी है. आप उन्हें आसानी से नहीं भांप सकते. मुझे लगता है कि जब मैं उनका सामना कर रहा था कि यह कुछ ऐसा है, जिसका आदी मैं नहीं हूं.’