नई दिल्ली: अपना पहला मैच हार चुकी मुंबई सिटी एफसी हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के चौथे सीजन के अपने दूसरे मुकाबले में शनिवार को एफसी गोवा के खिलाफ फुटबॉल. मुंबई सिटी एफसी के कोच एलेक्सजेंडर गुइमाराएस का मानना है कि उनकी टीम इस अहम मुकाबले के लिए पूरी तरह तैयार है.यह भी पढ़ें: नागपुर टेस्ट: गेंदबाज चमके, भारत ने श्रीलंका को 205 रन पर ढेर किया Also Read - ATK-मोहन बागान के सह मालिक सौरव गांगुली डायरेक्टर के रूप में नामित

मुंबई सिटी एफसी को अपने पहले मैच में बेंगलुरु एफसी के खिलाफ उसके घर में 0-2 से हार का सामना करना पड़ा था. कोच अब इस बात को लेकर आश्वस्त हैं कि शनिवार को उनकी टीम अपने घर में नए रूप में दिखेगी. Also Read - पूर्व कप्तान इयान चैपल ने बताया 1966-67 के विदेशी दौरे पर पहली बार हुआ था नस्लवाद का एहसास

इस अहम मैच से पूर्व गुइमाराएस ने कहा, हम घर आकर खुश हैं. यहां हमने बीते सीजन में बेहतरीन प्रदर्शन किया है. गोवा के खिलाफ हमारा मुकाबला कठिन होगा. हमें अपने खेल में सुधार लाना होगा. पहले मैच की तुलना में हम अब अधिक व्यवस्थित और सम्पूर्ण हैं. हम इस मुकाबले के लिए तैयार हैं. Also Read - चौकीदारी कर टीबी से जूझ रही बेटी का इलाज करा रहा भारत का ये पूर्व इंटरनेशनल साइक्लिस्ट, IOA से मदद की गुहार

दूसरी ओर, एफसी गोवा को इस मैच में एड्रियन कोलुंगा की कमी खलेगी, लेकिन कोच सर्गियो लोबेरा की टीम ने अपने पहले मैच मे चेन्नयन एफसी के खिलाफ अपने इस स्पेनिश अटैकर के बगैर ही अच्छा खेल दिखाया था. एफसी गोवा ने यह मैच 3-2 से जीता था. शुरुआत में ही दो गोल खाने के बाद भी इस टीम ने जीत हासिल की थी. इसलिए इसके स्पेनिश कोच को आक्रमण की नीति पर भरोसा है.

लोबेरा ने कहा, अगर किसी टीम को अच्छा खेलना है तो उसे अपनी आइडलॉजी पर बने रहना होगा. अगर वह कुछ नया करने की कोशिश करती है तो उसका खेल प्रभावित होगा. जब हम खेलने आएंगे तब हम अपनी आइडलॉजी और फिलॉसफी पर बने रहेंगे.

लोबेरा की फिलॉसफी का मतलब है कि एफसी गोवा खेल शुरू होने की सीटी बजने के साथ ही आक्रमण शुरू कर देगा और अच्छी लीड मिलने के बाद भी रुकेगा नहीं. जैसा कि उसने चेन्नयन एफसी के खिलाफ 3-0 की बढ़त हासिल करने के बाद भी अपने हमले जारी रखे थे. लोबेरा ने कहा, हमारी शुरुआत अच्छी रही थी. फुटबाल में भूतकाल में जीने से आपको कुछ नहीं हासिल होगा. हमें अब अगले मैच पर ध्यान लगाना होगा. हम बीते परिणामों पर ध्यान नहीं लगाएंगे.