ओलंपकि खेलों (Tokyo Olympic) में भारत ने पहली बार तलवारबाजी (Fencing in Tokyo Olympic) में एंट्री की है और तलवारबाज भवानी देवी (Bhavani Devi) ने ओलंपिक खेलों में शानदार आगाज करते हुए अपने पहले मुकाबले में एकतरफा जीत दिलाई. उन्होंने व्यक्तिगत साबरे स्पर्धा में ट्यूनीशिया की नादिया बेन अजीजी को 15-3 से हराकर दूसरे दौर (राउंड ऑफ 32) में प्रवेश किया. उनके दूसरे दौर का यह मुकाबला भी आज (सोववार) ही खेला जाएगा.Also Read - टोक्यो में बगैर दर्शकों के हुआ ओलिंपिक, फिर भी सबसे महंगा

ओलंपिक के लिए क्वॉलीफाई करने वाली पहली भारतीय तलवारबाज भवानी ने शुरू से ही आक्रामक रवैया अपनाया. उन्होंने अजीजी के खुले ‘स्टांस’ का फायदा उठाया. इससे उन्हें अंक बनाने में मदद मिली. Also Read - Tokyo Olympics में हारकर भी इतिहास रचने वाली भवानी देवी की तलवार हो सकती है आपकी! जानें पाने का तरीका

27वर्षीय भवानी ने तीन मिनट के पहले पीरियड में एक भी अंक नहीं गंवाया और 8-0 की मजबूत बढ़त बना ली. नादिया ने दूसरे पीरियड में कुछ सुधार किया लेकिन भारतीय खिलाड़ी ने अपनी बढ़त मजबूत करनी जारी रखी तथा छह मिनट 14 सेकंड में मुकाबला अपने नाम किया. Also Read - पाकिस्तानी खिलाड़ी Arshad Nadeem को ट्रोल करने वालों पर भड़के Neeraj Chopra, वीडियो में दिया करारा जवाब

बता दें तलवारबाजी के इस खेल में जो भी तलवारबाज पहले 15 अंक हासिल करता है उसे विजेता घोषित किया जाता है. भवानी को अगले दौर में फ्रांस की मैनन ब्रूनेट की कड़ी चुनौती का सामना करना होगा, जो रियो ओलंपिक में सेमीफाइनल में पहुंची थी.

बता दें ओलंपिक खेलों का यह चौथा दिन है, जबकि भारत की झोली में अभी तक सिर्फ एक ही पदक आया है, जो मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) ने वेटलिफ्टिंग में जीता था. अंकतालिका में भारत 25वें स्थान पर बना हुआ है. निशानेबाजी से उसे निराश होना पड़ा है. हालांकि भारत को अभी बॉक्सिंग, रेसलिंग, टेबल टेनिस, तीरंदाजी जैसे खेलों से पदक की आस है.