Nishiya Momiji Wins Gold Medal at The Age of 13 Years: टोक्यो ओलंपिक की स्केटबोर्डिंग स्पर्धा की महिला स्ट्रीट फाइनल में जापान की निशिया मोमीजी (Nishiya Momiji) ने इतिहास रचते हुए गोल्ड मेडल (Nishiya Momiji Wins Gold Medal) अपने नाम कर लिया है. निशिया ने सिर्फ 13 साल की उम्र में ओलंपिक का स्वर्ण पदक अपने नाम किया है. उन्होंने 13 साल 330 दिन की उम्र में पहली बार ओलंपिक में शामिल किए गए खेल स्केटबोर्डिंग में यह स्वर्ण पदक अपने नाम किया.Also Read - Outreach Programme: नीरज चोपड़ा ने ‘आउटरीच कार्यक्रम’ लॉन्च किया, 75 स्कूलों के बच्चों से बातचीत की

हालांकि इस प्रतिस्पर्धा में ब्राजील की रेयसा लील (Rayssa Leal) भी पदक की दौड़ में शामिल थीं, जो निशिया से भी कम उम्र (13 साल 203 दिन) की थीं. लेकिन वह स्वर्ण पदक की रेस से कुछ अंक पीछे रह गईं, जिसके चलते उन्हें रजत पदक से संतोष करना पड़ा. Also Read - पाकिस्तानी खिलाड़ी Arshad Nadeem को ट्रोल करने वालों पर भड़के Neeraj Chopra, वीडियो में दिया करारा जवाब

Also Read - गोलकीपर श्रीजेश को केरल सरकार ने 2 करोड़ रुपए दिए, प्रमोशन भी मिला

इस स्केटबोर्डिंग प्रतिस्पर्धा में जापान की ही 16 वर्षीय नाकायामा (Nakayama) ने कास्य पदक अपने नाम किया. इस तरह महिला स्केटबॉर्डिंग में जापान ने कुल दो मेडल जीतकर अपना वर्चस्व कायम किया. जापान अभी तक स्केटबोर्डिंग में 6 में से 3 पदक अपने नाम कर चुका है.

जापान की निशिया और ब्राजील की लील ने स्केटबोर्ड पर फिसलते हुए कुछ ऐसे नायाब करतब दिखाए, जिन्होंने जजों को भी हैरत में डाल दिया. इन दोनों खिलाड़ियों के बीच पूरे में जोरदार टक्कर देखने को मिली. इस दौरान सिर्फ 3 खिलाड़ी ही 14 अंकों का आंकड़ा पार कर पाए.

अंतिम ट्रिक से पहले रेयसा लील (Rayssa Leal) का स्कोर 14.64 था और निशिया मोमीजी) (Nishiya Momiji) का स्कोर 14.74 था. लेकिन ब्राजील की यह लिटिल स्टार 5वां पैंतरा सफलता पूर्वक नहीं कर पाई, जिससे जापान की खिलाड़ी ने स्वर्ण अपने नाम कर लिया.