टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympic 2020) में भालाफेंक एथलीट नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) ने गोल्ड मेडल अपने नाम किया. इसी के साथ नीरज ट्रैक एंड फील्ड इवेंट में देश को पहला पदक दिलाने वाले भारतीय बने. मेडल जीतने के बाद नीरज चोपड़ा ने एक इंटरव्यू के दौरान कुछ ऐसा कहा, जिसका बड़ा मुद्दा बना दिया गया. नीरज ने एक साक्षात्कार में कहा था कि उन्हें अपने पहले थ्रो से पहले पाकिस्तानी खिलाड़ी अरशद नदीम (Arshad Nadeem) से भाला लेना पड़ा था. नीरज चोपड़ा के इस बयान का मुद्दा बनाया गया, जिसके बाद स्वर्ण पदक विजेता ने कहा कि वह नहीं चाहते कि उनकी टिप्पणियों का इस्तेमाल भाला विवाद को बढ़ाने के तरीके के रूप में किया जाए.Also Read - Kaun Banega Crorepati 13 में होगी 'गोल्डन ब्यॉय' Neeraj Chopra और पीआर श्रीजेश की एंट्री, मचेगा धमाल

एथलीट नीरज चोपड़ा ने इन दावों का खंडन किया है कि फाइनल राउंड के पहले थ्रो से पहले पाकिस्तान के अरशद नदीम उनके भाले के साथ छेड़छाड़ कर रहे थे. नीरज चोपड़ा ने एक वीडियो अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है, जिसमें उन्होंने लिखा, “मेरी आप सभी से विनती है की मेरे कमेंट्स को अपने गंदे एजेंडा को आगे बढ़ाने का माध्यम न बनाए. स्पोर्ट्स हम सबको एकजूट होकर साथ रहना सिखाता हैं और कमेंट करने से पहले खेल के रूल्स जानना जरूरी होता है.” Also Read - Neeraj Chopra का सपना पूरा, माता-पिता को पहली बार कराया 'हवाई सफर'

नीरज ने कहा, “मैं सभी से अनुरोध करूंगा कि कृपया मुझे और मेरी टिप्पणियों को अपने निहित स्वार्थों और प्रचार के माध्यम के रूप में उपयोग ना करें. खेल हमें साथ रहना और एक होना सिखाते हैं. मेरी हाल की टिप्पणियों पर जनता की कुछ प्रतिक्रियाओं को देखकर मैं बेहद निराश हूं.” Also Read - भारतीय सेना ने किया Neeraj Chopra का सम्मान, उनके नाम पर रखा स्टेडियम का नाम

वीडियो में नीरज ने कहा, “मैं एक साक्षात्कार में अपनी हालिया टिप्पणियों के बारे में स्पष्ट करना चाहता हूं जहां मैंने उल्लेख किया था कि पाकिस्तान का नदीम मेरे भाले का उपयोग कर रहा था. बहुत ही साधारण सी बात होने पर यह एक बड़े विवाद में तब्दील हो गया है.”

उन्होंने कहा, “मुझे इस बात का दुख है कि लोग मेरे नाम का विवाद पैदा करने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं. मैं सभी से अनुरोध करता हूं कि इसमें शामिल ना हों. खेल हमें साथ रहना सिखाते हैं. सभी भाला फेंक एथलीट एक अच्छा बंधन साझा करते हैं, इसलिए मैं सभी से अनुरोध करता हूं कि ऐसा कुछ भी नहीं कहें जिससे मेरी भावनाओं को ठेस पहुंचे.”