Tokyo Olympics 2020 Mary Kom missed Medal with Mere 1 Point, Kiren Rijiju hails Performance: विश्‍व चैंपियन मैरी कॉम को भले ही टोक्‍यो ओलंपिक के क्‍वाटर फाइनल मुकाबले में कोलंबिया की इंग्रिट लोरेना ने वालेंशिया से शिकस्‍त झेलनी पड़ी हो लेकिन इसके बावजूद इस मुकाबले में उनके जज्‍मे को भारत के कानून मंत्री किरन रिजिजू ने जमकर सहारा. मैरीकॉम ये मुकाबला महज एक प्‍वाइंट से हार गई. चार सदसीय जाजों की राय कई मौकों पर बटी हुई दिखी. अगर एक प्‍वाइंट मैरीकॉम को मिल जाता तो वो भारत के लिए पदक जीतने में कामयाब हो जाती.Also Read - Neeraj Chopra का सपना पूरा, माता-पिता को पहली बार कराया 'हवाई सफर'

Also Read - नीरज चोपड़ा, सुमित अंतिल की सफलता के बाद क्रिकेट जितना लोकप्रिय होगा भालाफेंक: अनुराग ठाकुर

किरन रिजिजू ने मैरीकॉम के प्रदर्शन की तारीफ करते हुए ट्विटर पर लिखा, “प्रिय मैरीकॉम, आप टोक्‍यो ओलंपिक में महज एक प्‍वाइंट से हार गई हो लेकिन मेरे लिए आप हमेशा से ही चैंपियन रहोगी. आपने जो पाया है वो दुनिया की कोई भी महिला बॉक्‍सर नहीं पा सकी है. आप एक लीजेंड हो. भारत को आपके उपर गर्व है. बॉक्सिंग और ओलंपिक आपको मिस करेगा.” Also Read - उत्कृष्टता हासिल करने के लिए विराट कोहली को फॉलो करना चाहते हैं पीआर श्रीजेश

38 साल की मैरीकॉम का ये आखिरी ओलंपिक माना जा रहा है. भारतीय क्रिकेटर वसीम जाफर (Wasim Jaffer) ने भी मैच के बाद मैरीकॉम के प्रदर्शन पर प्रतिक्रिया दी. उन्‍होंने कहा, “गर्व है भारत की बेटी पर, शाबाश मैरी कॉम. आप हमेशा हमारे लिए प्रेरणासोत्र बनी रहेंगी.”

टोक्‍यो ओलंपिक के अपने मुकाले में मैच के बाद जब रैफरी ने वालेंसिया का हाथ ऊपर उठाया तो मैरी कॉम की आंखों में आंसू और चेहरे पर मुस्कान थी. भले ही मैरी कॉम खुद मैच हार गईं, लेकिन उन्होंने खेल भावना का परिचय देते हुए विपक्षी खिलाड़ी के हाथ उठाकर उन्हें बधाई दी. मैरी कॉम 2012 लंदन ओलंपिक में कांस्य पदक अपने नाम कर चुकी हैं.