Tokyo Olympics 2020: टोक्‍यो ओलंपिक में भारतीय हॉकी टीम ने दशकों के लंबे इंतजार के बाद पदक पर कब्‍जा किया. मनप्रीत सिंह की कप्‍तानी वाली भारतीय टीम कांस्‍य पदक अपने नाम करने में सफल रही. प्रधानमंत्री से मुलाकात के दौरान भारतीय हॉकी खिलाड़ियों ने टीम को पदक जिताने वाली हॉकी बतौर उपहार नरेंद्र मोदी को दे दी थी. अब इन हॉकी स्टिक को प्रधानमंत्री बेचने जा रहे हैं.Also Read - Ind vs Pak T20 2021: ओवैसी ने भारत-पाकिस्तान टी20 मैच को लेकर PM मोदी पर उठाए सवाल, डरपोक भी कहा

सुनने में ये थोड़ा अजीब जरूर लगता है लेकिन यह सच है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक अच्‍छे मकसद के तहत इन उपहारों को बेचने की तैयारी में हैं. सभी हॉकी स्टिक पर भारतीय खिलाड़ियों के हस्‍ताक्षर भी हुए हैं. इन्‍हें बेचकर प्राप्‍त होने वाली राशि का इस्‍तेमाल नमामी गंगा परियोजना के तहत गंगा की सफाई के लिए किया जाएगा. Also Read - Eid Milad Un Nabi 2021 : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और PM नरेंद्र मोदी ने ईद मिलाद उन नबी की शुभकामनाएं दीं

भारत सरकार की आधिकारिक वेबसाइट pmmementos.gov.in के माध्‍यम से इन हॉकी स्टिक की नीलामी की प्रक्रिया शुरू भी हो चुकी है. सात सितंबर को ऑनलाइन बिडिंग शुरू हुई थी. बताया जा रहा है कि सात अक्‍टूबर तक बिडिंग की प्रक्रिया जारी रहेगी. Also Read - बिहार के पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने कहा, मोदीजी, 15 दिन के लिए जम्मू-कश्मीर बिहारियों को सौंप दीजिए, फिर देखिए

बता दें कि एक समय था जब भारत हॉकी के खेल का चैंपियन माना जाता था लेकिन हॉकी के खेल में तब्‍दीली के साथ-साथ भारत अपने खेल में बदलाव नहीं कर पाया. यही वजह है कि ओलंपिक में पदक भी भारत के लिए दूर की कौड़ी नजर आने लगे. भारत ने टोक्‍यो ओलंपिक के माध्‍यम से हॉकी के खेल में सात साल बाद पदक प्राप्‍त किया है.