टोक्‍यो पैरालंपिक 2020 में भारत के लिए गुरुवार को टेबल टेनिस के क्षेत्र से अच्‍छी खबर आई. एथलीट भावनाबेन पटेल (Bhavnaben Patel) ने महिला एकल क्लास 4 के नॉकआउट दौर में अपनी जगह पक्‍की कर ली है. भाविनाबेल ने ग्रेट ब्रिटेन की मेगान शैकलटन पर 3-1 से हराकर यह उपलब्धि हांसलि की.Also Read - Tokyo Paralympics 2020: भारत ने जीते 5 गोल्ड, 8 रजत और 6 ब्रॉन्ज मेडल, ये हैं हमारे पदकवीर

एथलीट भाविनाबेन पटेल विश्‍व रैंकिंग में 12वें स्‍थान पर हैं. उन्‍होंने नौवें स्‍थान की खिलाड़ी को मात दी. भारत की 34 वर्षीय खिलाड़ी ने ब्रिटेन की खिलाड़ी शैकलटन को 41 मिनट तक चले राउंड के बाद मात दी. उन्‍हें पहला राउंड 11-7 से जीतने के बाद अगले राउंड में 9-11 से शिकस्‍त झेलनी पड़ी. इसके बाद अन्‍य दो राउंड में भावनाबेन पटेल (Bhavnaben Patel) को 17-15, 13-11 से जीत मिली. Also Read - Tokyo Paralympics 2020: टोक्‍यो में ऐतिहासिक प्रदर्शन के बाद PM Narendra Modi करेंगे भारतीय एथलीट की मेजबानी

विश्व में 12वें नंबर की भारतीय के लिये यह करो या मरो वाला मैच था. उन्होंने पहला गेम केवल आठ मिनट में जीता लेकिन शैकलटन ने दूसरा गेम जीतकर अच्छी वापसी की. Also Read - Tokyo Paralympics 2021: रियो पैरालंपिक तक जीते थे कुल 12 पदक, टोक्‍यो में 19 पदक के साथ भारत ने रचा इतिहास

इसके बाद अगले दो गेम में दोनों खिलाड़ियों ने अपनी जी जान लगा दी लेकिन भारतीय खिलाड़ी ने महत्वपूर्ण मौकों पर अंक बनाये और जीत हासिल करने में सफल रही.

भाविनाबेन ने मैच के बाद कहा, ‘‘मैं आगामी मैचों में बेहतर प्रदर्शन करना चाहती हूं. मैंने आज धैर्य बनाये रखने की और गेंद पर ध्यान लगाये रखने की कोशिश की. मैंने किसी नकारात्मक विचार से अपना ध्यान भंग नहीं होने दिया. ’’

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे खुशी है कि मैं इस कड़े मुकाबले में जीत दर्ज करने में सफल रही. मैंने एक – एक अंक के लिये संघर्ष किया. मैंने हार नहीं मानी.’’

भावनाबेन पटेल (Bhavnaben Patel) की यह टूर्नामेंट में पहली जीत है क्योंकि वह पहले मैच में विश्व की नंबर एक चीनी खिलाड़ी झोउ यिंग से 0-3 से हार गयी. भाविनाबेन के दो मैचों में तीन अंक रहे और वह यिंग के साथ नॉकआउट चरण में पहुंचने में सफल रही.