Tokyo Paralympics 2020: टोक्‍यो पैरालंपिक में भारतीय एथलीट के ऐतिहासिक प्रदर्शन से गदगद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) दिल्‍ली में उनकी मेजबानी करेंगे. यह जानकारी खेल मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने दी है. भारत ने टोक्‍यो में कुल 19 पदक अपने नाम किए हैं. इससे पहले साल 1972 में पहला पैरालंपिक खेलने से लेकर 2016 में रीयो पैरालंपिक तक भारत ने कुल मिलाकर 12 पदक अपने नाम किए थे.Also Read - प्रधानमंत्री मोदी के साथ 24 सितंबर को द्विपक्षीय बैठक करेंगे राष्ट्रपति जो बाइडन : व्हाइट हाउस

टोक्‍यो में भारतीय एथलीट ने कमाल कर दिया. बेहद विषम परिस्थिति में भी उन्‍होंने हिम्‍मत नहीं हारी और पदक जीतकर जीतकर ये दिखा दिया कि दिव्‍यांग होने के बावजूद भी देश के लिए मेडल जीत सकते हैं. भारत ने टोक्‍यो पैरालंपिक में 24वें स्‍थान पर रहते अपने अभियान का अंत किया. हमने पांच गोल्‍ड, आठ सिल्‍वर और छह ब्राउंस मेडल जीते. Also Read - Vivek Oberoi अभिनीत PM Modi की बायोपिक ओटीटी पर इस दिन होगी रिलीज, सामने आया Trailer- VIDEO

अनुराग ठाकुर ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi)  ने ओलंपियन के भारत लौटने पर मेजबानी की थी, वह पैरालंपियन के लौटने पर भी ऐसा करेंगे.’’ Also Read - मेरे जन्मदिन पर 2.5 करोड़ टीके लगने से एक राजनीतिक दल को बुखार आ गया: PM मोदी

ठाकुर ने इसके साथ ही सभी राष्ट्रीय खेल महासंघों से 2024 और 2028 में होने वाले ओलंपिक खेलों के लिये बड़ी योजनाएं बनाने के लिये कहा ताकि भारत आगे भी अपनी स्थिति में सुधार कर सके.

ठाकुर (Anurag Thakur) ने संवाददाताओं से कहा, ‘सभी खेल महासंघों को महत्वपूर्ण भूमिका निभानी होगी और हमें बड़ी योजनाएं तैयार करने के लिये मिलकर काम करना होगा ताकि 2024 और 2028 ओलंपिक खेलों में भारत की स्थिति में आगे और सुधार हो. ’’

ठाकुर यहां कई कार्यक्रमों में भाग लेने के लिये आये हुए हैं जिनमें खिलाड़ियों से मिलना भी शामिल है.

उन्होंने कहा कि सरकार ने खिलाड़ियों को महत्व दिया जिससे लोगों का खेलों के प्रति धारणा बदली है. इसी का परिणाम है कि भारत ने ओलंपिक और पैरालंपिक में अच्छा प्रदर्शन किया.

ठाकुर (Anurag Thakur) ने कहा, ‘‘सबसे अहम बात है कि खेलों के प्रति रवैया बदलना. जब सरकार प्रत्येक तरह की सुविधाएं उपलब्ध करा रही है, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं खिलाड़ियों से बात करके उन्हें प्रोत्साहित करते हैं तो इससे पूरे समाज के प्रत्येक वर्ग पर प्रभाव पड़ता है फिर चाहे वह कोई व्यक्ति हो, कारपोरेट या खेल संघ या कोई और संगठन.’’