आगामी टी20 विश्व कप के लिए अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के कप्ताान बने मोहम्मद नबी (Mohammad Nabi) ने स्वीकार किया कि बड़े टूर्नामेंट में कप्तानी कठिन है लेकिन वो अपनी टीम को आगे तक ले जाने की पूरी कोशिश करेंगे।Also Read - अफगानिस्तान को पाकिस्तान के रास्ते मानवीय सहायता पहुंचाएगा भारत, विदेश मंत्रालय ने कहा- रोडमैप तैयार कर रहे हैं

नबी को दस अक्टूबर को अफगानिस्तान टीम का कप्तान बनाया गया चूंकि स्टार ऑलराउंडर राशिद खान (Rashid Khan) ने ये कहकर कप्तान बनने से इनकार कर दिया कि टीम चुनने से पहले उनकी राय नहीं ली गई थी। Also Read - कीवी स्विंग गेंदबाजों को भारत के मुकाबले बेहतर खेलते हैं ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज: माइक हेसन

36 साल के नबी 2013 से 2015 के बीच भी टीम के कप्तान रह चुके हैं। उन्होंने रविवार से शुरू हो रहे टी20 विश्व कप से पहले मीडिया से कांफ्रेंस कॉल में कहा, ‘‘कप्तानी काफी कठिन जिम्मेदारी है। मैं अपनी ओर से सर्वश्रेष्ठ प्रयास करूंगा कि टीम टूर्नामेंट में अच्छा खेले। कप्तान के तौर पर खेलने को लेकर काफी रोमांचित हूं।’’ Also Read - तालिबान अधिग्रहण के बाद अफगानिस्तान क्रिकेट टीम का फैसला करेगी ICC

अफगानिस्तान टीम को पहला मैच 25 अक्टूबर को पहले दौर की क्वालिफायर टीम से खेलना है। उसे ग्रुप दो में भारत, पाकिस्तान, न्यूजीलैंड और एक क्वालीफायर के साथ रखा गया है।

तालिबान के अफगानिस्तान में सत्तारूढ होने के बावजूद टीम ने विश्व कप में जगह बनाई है। अमेरिकी सेनाओं के पीछे हटने के बाद अफगानिस्तान में काफी रक्तपात और हिंसा हुई। नबी ने इस मसले पर बोलने से इनकार कर दिया और सिर्फ वीजा दिक्कतों का जिक्र किया।

उन्होंने कहा, ‘‘टीम पिछले डेढ महीने से तैयारी कर रही है। वीजा मामले में कुछ दिक्कतें आई जिसकी वजह से खिलाड़ी यूएई जल्दी नहीं आ सके। वो कतर में अभ्यास कर रहे थे। ’’

जिम्बाब्वे के पूर्व क्रिकेटर और इंग्लैंड के कोच रहे एंडी फ्लावर अफगानिस्तान के बल्लेबाजी सलाहकार होंगे जबकि दक्षिण अफ्रीका के लांस क्लूसनर मुख्य कोच और ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज शॉन टैट गेंदबाजी कोच होंगे।