Cricket News Today: साल 2018-19 में ऑस्‍ट्रेलिया दौरे पर (India Tour of Australia) भारत की टीम ने 2-1 से गावस्‍कर बॉर्डर सीरीज (Gavaskar Border Trophy) पर कब्‍जा किया. भारतीय क्रिकेट के इतिहास में ये पहला मौका था (India vs Australia) जब हम कंगारुओं को उन्‍हीं की धरती पर टेस्‍ट सीरीज (IND vs AUS) में मात दे पाने में सफल रहे. ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान टिम पेन (Tim Paine) को आज भी रह-रह कर इस हार का दर्द परेशान करता है. Also Read - IPL Auction 2021: ये विदेशी खिलाड़ी आईपीएल नीलामी में मचाएंगे धूम

ये वो समय था जब‍ बॉल टैंपिरिंग विवाद में फंसे स्टीव स्मिथ (Steve Smith) और डेविड वार्नर (David Warner) की गैर मौजूदगी में ऑस्‍ट्रेलियाई टीम भारत के खिलाफ उतरी थी. Also Read - India vs England-विराट कोहली की टेस्ट कप्तानी को लेकर बोले Ajinkya Rahane- वे तो...

पेन (Tim Paine) ने 2जीबी के वाइड वर्ल्ड ऑफ स्पोर्ट्स रेडियो से कहा, ‘‘मैं जब भी इस बारे में सोचता हूं तो निश्चित तौर पर यह कचोटता है कि हम वह टेस्ट सीरीज (India Tour of Australia) हार गए. स्टीव और डेविड हों या नहीं, आप कोई टेस्ट मैच या टेस्ट श्रृंखला नहीं हारना चाहते जिसमें आप खेल रहे हों, इसलिए इससे मुझे थोड़ी पीड़ा पहुंचती है.’’ Also Read - India vs Australia- ओपनर के तौर पर बढ़े होने का ऑस्ट्रेलिया में फायदा मिला: Washington Sundar

35 साल के इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने कहा कि इस हार के दौरान टीम का हिस्सा रहे प्रत्येक खिलाड़ी में पिछले कुछ वर्षों में सुधार हुआ है.

टिम पेन (Tim Paine) ने कहा, ‘‘हमारी टीम अब बेहतर ऑलराउंड टीम है. स्टीव और डेविड के वापस आने से टीम को काफी अनुभवी खिलाड़ी मिले हैं जिन्होंने ढेरों रन बनाए हैं लेकिन साथ ही मुझे लगता है कि उस टीम में शामिल प्रत्येक खिलाड़ी में पिछले 18 महीने में सुधार हुआ है और हम काफी अच्छा क्रिकेट खेल रहे हैं.’’

टिम पेन (Tim Paine) ने कहा कि हार उस श्रृंखला में शामिल खिलाड़ियों को बेहतर प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित करेगी और यहां तक कि वार्नर और स्मिथ भी यह दिखाने को बेताब हैं कि वे क्या करने में सक्षम हैं. भारत और आस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्ट की श्रृंखला की शुरुआत एडीलेड में 17 दिसंबर से दिन-रात्रि मुकाबले के साथ होगी.