India vs Australia, 1st ODI: आईपीएल 2020 के दौरान सर्वाधिक रन बनाकर ऑरेंज कैप पर कब्‍जा करने वाले भारतीय टीम के विकेटकीपर बल्‍लेबाज केएल राहुल (KL Rahul) का मानना है कि उनकी गिनती पावर हिटर (Power Hitter) बल्‍लेबाजों में नहीं की जानी चाहिए. राहुल का मानना है कि उनके अंदर पावर हिटिंग के गुण नहीं हैं. Also Read - India vs Australia- अगर भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज ड्रॉ हुई तो यह पिछली हार से भी बुरी: Ricky Ponting

ऑस्ट्रेलियाई टीम के बारे में पूछने पर उन्होंने मार्नस लाबुशाने (Marnus Labuschagne) की तारीफ की लेकिन इस बात से इनकार किया वह अनजान खिलाड़ी है. ‘‘मुझे नहीं लगता कि अब वह अनजान है. वह शीर्ष पांच में है और पिछले 12- 15 महीने से काफी रन बना रहे हैं. वह कोरोना महामारी से पहले भी लगातार अच्छा खेल रहा था. उम्मीद है कि हमारे खिलाफ वह रन नहीं बना सकेगा. हमारे गेंदबाज बहुत अच्छे हैं और उसके लिये यह अच्छी चुनौती होगी.’’ Also Read - IND vs AUS ब्रिसबेन टेस्ट: चोट से ऑस्ट्रेलिया भी हुआ परेशान, इस दिग्गज फास्ट बॉलर की हैम्स्ट्रिंग में खिंचाव

भारत औ ऑस्‍ट्रेलिया (IND vs AUS) के बीच वनडे सीरीज 27 नवंबर से शुरू हो रही है. मैच से दो दिन पहले राहुल ने कहा वो बिना पावर हिटिंग के भी 160-170 की स्‍ट्राइकरेट से रन बना सकते हैं. पावर-हिटर बनने की  उनकी कोई लालसा भी नहीं है. Also Read - IND vs AUS: ब्रिसबेन टेस्ट में जीत चाहे भारत, इन 8 खिलाड़ियों से है 'आखिरी उम्मीद'

केएल राहुल (KL Rahul) ने स्‍वीकार किया,‘‘ मैं अपनी बल्लेबाजी को पावर हिटिंग नहीं कहूंगा क्योंकि मैं ईमानदारी से कहूं तो मैं वह नहीं कर सकता. मेरे पास कुछ तकनीकी कौशल है और मैं टीम की जरूरत के अनुसार भूमिका निभाने में विश्वास करता हूं.’’

केएल राहुल (KL Rahul) कहा ,‘‘ मैं इतने लंबे समय तक लगातार कभी नहीं खेला. मुझे अच्छा लग रहा है कि टीम की जीत में योगदान दे रहा हूं और अपनी भूमिका निभा रहा हूं.’’