नई दिल्ली : न्यूजीलैंड ने भारत को हैमिल्टन वनडे में 8 विकेट से हराया. गेंदों के लिहाज देखें तो भारत की वनडे में यह सबसे बड़ी हार है. इस मुकाबले में ट्रेंट बोल्ट ने शानदार गेंदबाजी की. उन्होंने 5 विकेट भी झटके. बोल्ट ने प्रभावी प्रदर्शन की वजह से कई शानदार रिकॉर्ड अपने नाम किए. अहम बात यह भी रही कि उन्होंने किसी एक देश में खेलते हुए सबसे तेज 100 वनडे विकेट लेने का रिकॉर्ड तोड़ दिया. उन्होंने इस मामले में पाकिस्तान के पूर्व दिग्गज गेंदबाज वकार यूनुस को पीछे छोड़ दिया.Also Read - Highlights IND vs PAK, T20 World Cup 2021: पाकिस्‍तान ने भारत को दी पहली बार टी20 विश्‍व कप में मात, 10 विकेट से हारा भारत

Also Read - India vs Pakistan T20 World Cup 2021: राशिद लतीफ बोले- पाकिस्‍तान चाहे कितना भी अच्‍छा खेल ले, भारतीय क्रिकेटर्स ने गलती नहीं की तो…

दरअसल भारत के खिलाफ हैमिल्टन में बोल्ट ने 10 ओवर फेंके. इस दौरान उन्होंने महज 21 रन देकर 5 विकेट झटके. बोल्ट ने 4 मेडन ओवर भी निकाले. उन्होंने प्रभावी प्रदर्शन की बदौलत एक खास रिकॉर्ड कायम किया. बोल्ट ने न्यूजीलैंड में खेलते हुए 100 वनडे विकेट पूरे किए. वो किसी एक देश में खेलते हुए सबसे तेज 100 विकेट लेने के मामले में पहले नंबर पर आ गए हैं. उनसे पहले पाक के वकार के नाम यह रिकॉर्ड दर्ज था. Also Read - ICC T20 World Cup 2021: भारत खिताब जीतने की दावेदार लेकिन प्रबल दावेदार नहीं: नासिर हुसैन

टीम इंडिया 92 रन पर हुई ऑलआउट, हैमिल्टन वनडे में लगा ‘दाग’

किसी एक देश में खेलते हुए सबसे 100 वनडे विकेट लेने के मामले में वकार पहले स्थान पर थे. उन्होंने यूएई में 55 मैच खेलते हुए यह रिकॉर्ड अपने नाम किया था. जबकि बोल्ट ने 49 मैचों में यह कारनामा कर दिखाया. इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर मैग्राथ और ब्रेट ली हैं. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में 56 मैच खेलते हुए 100 वनडे विकेट लिए थे. वहीं शॉन पोलक 60 मैचों के साथ चौथे स्थान पर हैं. पोलक ने दक्षिण अफ्रीका में यह मुकाम हासिल किया था.

टीम इंडिया की हैमिल्टन वनडे में बड़ी हार, न्यूजीलैंड ने सिर्फ ’88 गेंदों’ में जीता मैच

बता दें कि पांच मैचों की वनडे सीरीज में भारत की यह पहली हार है. उसे न्यूजीलैंड ने 8 विकेट से हराया. जबकि भारत ने सीरीज में पहले ही अजेय बढ़त बना ली है. अब आखिरी मुकाबला 3 फरवरी को खेला जायेगा. अहम बात यह रही कि हैमिल्टन में टीम इंडिया कप्तान विराट कोहली के बिना मैदान में उतरी. उनकी गैरमौजदूगी में रोहित शर्मा को कप्तान बनाया गया.