नई दिल्ली. मेलबर्न टेस्ट में जहां भारतीय बल्लेबाज मेजबान ऑस्ट्रेलिया पर भारी पड़े हैं और उनकी नाक में दम करके रखे हुए हैं वहीं कंगारुओं के पड़ोस की कहानी थोड़ी जुदा है. वहां मेजबानों ने ही मेहमानों की हालत पतली कर रखी है. क्राइस्टचर्च में न्यूजीलैंड और श्रीलंका के बीच खेले जा रहे टेस्ट मैच में श्रीलंका की पहली पारी सिर्फ 104 रन पर ढेर हो गई और ऐसा तब हुआ जब उनके 4 विकेट पर 88 रन थे.

बोल्ट का ‘बवंडर’

श्रीलंका को 88/4 से 104 पर ऑलआउट करने में सबसे अहम रोल कीवी टीम के तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट का रहा. क्राइस्टचर्च की पिच पर बोल्ट ने अपने रफ्तार से कुछ ऐसा तांडव किया जिसके आगे श्रीलंका का दिवाला निकल गया. बोल्ट ने सिर्फ 15 गेंदों पर टेस्ट मैच में श्रीलंका की पहली पारी की कहानी का दि एंड कर दिया. इस दौरान बोल्ट ने सिर्फ 4 रन दिए और उससे 2 ज्यादा यानी 6 विकेट चटकाए.

15 गेंद, 4 रन, 6 विकेट

बोल्ट का 15 गेंदों वाला तांडव शुरू हुआ दिन के खेल के 37वें ओवर की चौथी गेंद से, जिस पर उन्होंने रौशन सिल्वा को थर्ड स्लिप पर कैच कराया. बोल्ट ने अगले 3 शिकार 39वें ओवर की पहली, पांचवीं और छठी गेंद पर डिकवेला, परेरा और लकमल के तौर पर किया. बोल्ट ने अपने आखिरी 2 शिकार 41वें ओवर की दूसरी और छठी गेंद पर चमीरा और कुमारा के तौर पर किया.

सबसे कम गेंद पर 5 विकेट का बनाया रिकॉर्ड

पहली पारी में बोल्ट की गेंदबाजी का ग्राफ 15 ओवर में 30 रन देकर 6 विकेट का रहा. लेकिन, 6 विकेट चटकाने के लिए उन्होंने सिर्फ 15 गेंदे ही फेंकी. इसी दौरान बोल्ट ने सबसे कम गेंदों पर 5 विकेट लेने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया. उन्होंने 5 विकेट सिर्फ 11 गेंदों पर लिए. इस मामले में उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में मोंटी नोबल, जैक कैलिस और केमर रोच के 12 गेंदों के संयुक्त रिकॉर्ड को तोड़ा.

न्यूजीलैंड को बढ़त

ट्रेंट बोल्ट के इस शानदार प्रदर्शन ने उनकी टीम को 178 रन के कम स्कोर के बावजूद पहली पारी में 74 रन की बड़ी बढ़त दिला दी है.