आईसीसी वनडे विश्व कप फाइनल मैच में सुपर ओवर टाय होने के बाद बाउंड्री नियम के आधार पर ट्रॉफी गंवाने के बाद न्यूजीलैंड (New Zealand) टीम को घरेलू टी20 सीरीज के निर्णायक मैच में भी इंग्लैंड के खिलाफ सुपर ओवर खेलना पड़ा। हालांकि इस बार उन्हें बराबरी करने का मौका भी नहीं मिला और वो 3-2 से सीरीज हार गए। कीवी तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट (Trent Boult) का कहना है कि ये हार अब भी चुभती है।Also Read - T20 World Cup 2021, ENG vs NZ, Practice Match: जोस बटलर ने तूफानी अंदाज में ठोके 73 रन, इंग्‍लैंड को दिलाई जीत

Also Read - IPL 2021: Rohit Sharma और Hardik Pandya की फिटनेस पर मुंबई ने दिया अपडेट, जानें- क्या खेलेंगे अगला मैच

इंग्लैंड के खिलाफ गुरूवार को होने वाले बे ओवल टेस्ट से पहले मीडिया के सामने आए बोल्ट ने कहा, “इसके बारे में बात करने से भी दुख होता है। इतने करीबी अंतर से मिली हार को पचाना बेहद मुश्किल होता है। लेकिन खेल के लिए ये अच्छा रहा है। आपके दोस्त और परिवार को आपके खेल पर गर्व महसूस होता है।” Also Read - WTC Final 2021: Rohit Sharma को नई गेंद से Trent Boult से बचकर रहना होगा, वीवीएस लक्ष्‍मण ने दी सलाह, कहा...

बोल्ट का मानना है कि न्यूजीलैंड टीम का ये प्रदर्शन युवाओं को प्रभावित करेगा। उन्होंने कहा, “कई लोग हमारी टीम का अनुसरण करते हैं और मैं ये पूरे यकीन के साथ कह सकता हूं कि हमारे देश का हर बच्चा डैन कार्टर या रिची मैक्कॉ (न्यूजीलैंड के राष्ट्रीय रग्बी खिलाड़ी) बनना चाहता है। लेकिन इसके बाद उम्मीद है कि कुछ अगला केन विलियसमन या फिर मेरे जैसे या टिमी ( टिम साउदी) जैसे बनना चाहेंगे।”

पाकिस्तानी क्रिकेटर सना मीर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से ब्रेक की घोषणा की

इस पर साउदी ने कहा, “रग्बी और क्रिकेट का विश्व कप और ये टी20 सीरीज बेहद करीबी रही लेकिन उतनी करीब नहीं। उम्मीद है कि टेस्ट सीरीज में रुख बदलेगा।”

साउदी और बोल्ट कीवी टीम के सीनियर तेज गेंदबाज हैं लेकिन हालिया वनडे विश्व कप में किए प्रदर्शन के दम पर मैट हैनरी और लोकी फर्ग्यूसन टेस्ट टीम में जगह के दावेदार बन गए हैं। हालांकि बोल्ट-साउदी को इससे कोई परेशानी नहीं है।

साउदी ने कहा, “ये स्वस्थ प्रतिद्वंदिता है। हम खुशकिस्मत हैं कि हमारे पास ऐसे खिलाड़ी हैं जो इस स्तर पर प्रदर्शन करने के काबिल हैं। मैट और लोकी जैसे खिलाड़ियों का दरवाजे पर दस्तक देना अच्छा है। छोटे देश से होने की वजह से हमारे पास खिलाड़ियों को बड़ा पूल नहीं है जो कि हमें गेंदबाजी में गहराई दे सके।”