नई दिल्ली: इंग्लैंड की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के कोच ट्रेवर बेलिस का कहना है कि अंतर्राष्ट्रीय टीमों को टी-20 क्रिकेट नहीं खेलना चाहिए. बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार, बेलिस ने रविवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ त्रिकोणीय टी-20 सीरीज में जीत के बावजूद कम रन रेट के कारण सीरीज से इंग्लैंड टीम के बाहर होने के बाद यह बयान दिया. Also Read - ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज Shane Warne ने गेंदबाजों की इच्छाशक्ति पर उठाए सवाल, बोले-अधिकांश बॉलर आसानी से...

Also Read - इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज से पहले कोरोना पॉजिटिव हुआ दक्षिण अफ्रीका क्रिकेटर; आइसोलेशन में गए तीन खिलाड़ी

‘स्काई स्पोर्ट्स’ को दिए बयान में बेलिस ने कहा, “मैं टी-20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेलता. अगर आप हर चार साल में विश्व कप खेलना चाहते हैं, तो छह माह पहले ही अंतर्राष्ट्रीय टीमों को टी-20 खेलने देना चाहिए.” Also Read - IPL 2020: टी20 क्रिकेट में MS Dhoni के नाम एक और कीर्तिमान, ये कारनामा करने वाले बने पहले भारतीय

VIDEO: दर्शकों ने धवन को आउट होने से बचाया, टीम इंडिया का भाग्य ने दिया साथ

अगर देखा जाए, तो घरेलू टी-20 प्रतियोगिताओं में खेल रहे अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों ने हाल ही के वर्षो में अपना दबदबा बनाया है. इसमें इंडियन प्रीमियर लीग और बिग बैश लीग शामिल है. इनके दर्शकों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है.

इसके अलावा, इंग्लैंड में पहला टी-20 टूर्नामेंट 2020 में आयोजित होगा. वेस्टइंडीज में भी घरेलू टी-20 प्रतियोगिताएं होती हैं.

द.अफ्रीका के खिलाफ हारी भारतीय महिला टीम, हरमनप्रीत ने कहा हार ने आंखें खोल दी

टी-20 प्रारूप से जुड़ी इतनी स्पर्धाओं को देखते हुए इंग्लैंड के कोच बेलिस का कहना है कि इस प्रकार व्यस्त कार्यक्रम के लिए अंतर्राष्ट्रीय टी-20 टीमों को अलग से कोच की नियुक्ति करनी होगी. बेलिस ने कहा, “यह स्थिति इसी ओर जा रही है. अगर हम लगातार इतने सारे मैच खेलते रहे, तो एक समय पर न केवल खिलाड़ी, बल्कि कोच भी इससे उकता जाएंगे.”