कराची। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने गुरुवार को विवादित क्रिकेटर उमर अकमल पर केंद्रीय अनुबंध के उल्लंघन के आरोप में तीन मैचों के प्रतिबंध के साथ दस लाख रुपये का जुर्माना लगाया है. पीसीबी ने कहा कि बोर्ड के अध्यक्ष नजम सेठी ने जांच समिति की सिफारिशों की समीक्षा की जिसमें उन्हें केन्द्रीय अनुबंध की धारा 2.2.5, 4.1 तथा 4.4 के तहत दोषी पाया गया था.

प्रतिबंध और जुर्माने के अलावा अकमल को दो माह तक किसी विदेशी लीग में खेलने के लिए जरूरी अनापत्ति प्रमाण पत्र भी नहीं दिया जाएगा. दो माह तक निजी लीग में खेलने से लगे प्रतिबंध के कारण वह दक्षिण अफ्रीका और बांग्लादेश के टी-20 लीग में नहीं खेल पाएंगे। अकमल पर यह प्रतिबंध नेशनल क्रिकेट अकादमी में कोच मिकी अर्थर से उलझने और मीडिया में कोच पर आरोप लगाने के कारण लगा है.

पीसीबी की तीन सदस्यीय कमिटी ने मामले की जांच की और उमर को दोषी पाया. पीसीबी ने अपने बयान में कहा, ‘पीसीबी अनुशासनात्मक कमिटी ने उमर को कई बार अपने करारों के उल्लंघन का दोषी पाया है. इस वजह से पीसीबी चेयरमैन नजम सेठी उन पर तीन मैचों का बैन लगाने और 10 लाख रुपये का जुर्माना लगाने पर सहमत हुए हैं.’