नई दिल्ली. बांग्लादेश के खिलाफ टीम इंडिया की जीत को अगर बल्लेबाजों ने आखिरी अंजाम दिया तो इसकी बुनियाद रखी भारत की बॉलिंग ब्रिगेड ने. श्रीलंका के खिलाफ पहले मैच में फ्लॉप शो से सबक लेते हुए भारतीय गेंदबाजों ने बांग्लादेश के खिलाफ धारदार गेंदबाजी की. ये टीम इंडिया की असरदार गेंदबाजी का नतीजा रहा कि बांग्लादेशी टीम 139 रन से आगे नहीं बढ़ सकी. Also Read - थूक के इस्‍तेमाल पर रोक से बिगड़ेगा गेंद-बल्‍ले का संतुलन, अनिल कुंबले का सुझाव, पिच में हो बदलाव

शंकर ने रखी ‘विजय’ की बुनियाद Also Read - चहल पर आपत्तिजनक टिप्‍पणी के इस्‍तेमाल के मामले में युवराज सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज, पुलिस ने...

भारतीय गेंदबाजों में अपने प्रदर्शन की सबसे ज्यादा छाप छोड़ी उनादकट और विजय शंकर ने. विजय शंकर का ये दूसरा इंटरनेशनल मैच था लेकिन जिस अंदाज में उन्होंने बांग्लादेश की बत्ती गुल की वो देखने लायक रही. शंकर ने 4 ओवर की गेंदबाजी में 32 रन देकर 2 विकेट लिए. विजय शंकर ने बांग्लादेश के मिडिल ऑर्डर पर हमला बोला . पहले उन्होंने विकेटकीपर बल्लेबाज मुस्तफिकुर रहीम को आउट किया, जो कि इंटरनेशनल क्रिकेट में उनका पहला शिकार बने. उसके बाद बांग्लादेशी कप्तान महमुदुल्ला को विजय शंकर ने अपना दूसरा इंटरनेशनल शिकार बनाया. Also Read - यौन उत्‍पीड़न के मामले में भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी को कोच पद से किया गया बर्खास्‍त

उनादकट ने किए 3 शिकार

शंकर की ही तरह उनादकट भी धारदार और असरदार रहे. उन्होंने 4 ओवर में 38 रन देकर 3 विकेट चटकाए. बांग्लादेश के खिलाफ पहली सफलता भारत को उनदकट ने ही दिलाई, जब उन्होंने सौम्य सरकार को चलता किया. उसके बाद उनादकट ने मेहदी हसन और शब्बीर रहमान का विकेट चटकाते हुए बांग्लादेश की कमर तोड़कर रख दी.

शार्दुल और चहल ने भी किया कमाल

शंकर और उनादकट की इस कामयाबी का असर बाकी गेंदबाजों पर भी देखने को मिला. शार्दुल ठाकुर ने 4 ओवर में 25 रन देकर 1 विकेट लिया. शार्दुल ने तमीम इकाबल को अपना शिकार बनाया. तो वहीं चहल ने कंजूसी से रन लुटाते हुए एक बांग्लादेशी बल्लेबाज को अपनी फिरकी में फंसाया. चहल ने 4 ओवर की गेंदबाजी में 19 रन दिए .

भारतीय गेंदबाजों के रखे इस बुनियाद पर चलकर टीम इंडिया के बल्लेबाजों ने बांग्लादेश के खिलाफ शानदार जीत की स्क्रिप्ट लिखी और निदाहस ट्रॉफी में भारत का खाता खोला.