बात जब क्रिकेट की होती है तो अमेरिका जैसी महाशक्ति का नाम इस क्षेत्र में आखिरी पायदान पर ही आता है, लेकिन यह देश अब क्रिकेट में भी बड़ी छलांग लगाने पर विचार कर रहा है. अमेरिका ने 2023 से शुरू हो रहे आईसीसी के कार्यक्रम चक्र में टी20 विश्व कप की मेजबानी की इच्छा जताई है. Also Read - 'युवा ओपनर पृथ्वी शॉ में है वीरेंद्र सहवाग जैसी क्षमता, किसी भी गेंदबाजी अटैक को कर सकता है ध्वस्त'

अमेरिका में भारतीय उपमहाद्वीप के प्रवासी बड़ी संख्या में रहते है जिससे उसे उम्मीद है कि स्टेडियम खचा-खच भरे रहेंगे. अमेरिका ने 1994 में फीफा विश्व का आयोजन तब किया था जब फुटबॉल की लोकप्रियता बेसबॉल, ‘अमेरिकन फुटबॉल’, और बास्केटबॉल की काफी कम थी. इसके बाद भी लगभग 35 लाख लोगों ने इस विश्व कप के मैचों को स्टेडियम आकर देखा था. Also Read - टीम इंडिया ने World Cup 2019 में खुद को कैसे पहुंचाया नुकसान, टॉम मूडी ने गिनाई कमियां

बीबीसी स्पोर्ट्स ने अमेरिकी क्रिकेट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी इयान हिगिंस के हवाले से बताया , ‘‘अगर अमेरिका में विश्व कप (टी20) को खेला जाए तो हर स्टेडियम दर्शकों से खचाखच भरा रहेगा.’’ Also Read - कोविड-19 लॉकडाउन में मिले लंबे ब्रेक से खुश नहीं भारतीय पेसर मोहम्मद शमी, सता रहा ये डर

फ्लोरिडा के फोर्ट लॉडरहिल स्थिति सेंट्रल ब्रोवार्ड रीजनल पार्क ने छह वनडे और 10 टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैचों की मेजबानी की है. यहां अगस्त में वेस्टइंडीज और दक्षिण अफ्रीका के बीच दो टी20 मैचों को खेला गया था. भारत ने भी फ्लोरिडा में दर्शकों से खचाखच भरे स्टेडियम वेस्टइंडीज के खिलाफ एक टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेला है.

हिगिन्स ने कहा, ‘‘ आप सोच कर देखिये टी20 विश्व कप में भारत और पाकिस्तान अमेरिका में खेल रहे है, आप इतना बड़ा स्टेडियम नहीं बना पायेंगे जिससे इतने सारे प्रशंसक आ पाये.’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमारी योजना देश में कम से कम छह ऐसे स्टेडियम बनाने की है जो अंतरराष्ट्रीय मैचों की मेजबानी करने में सक्षम हो.’’