नई दिल्ली : ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी उस्मान ख्वाजा के भाई अर्सलान ख्वाजा मुसीबत में फंस गए हैं. उन्हें मंगलवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. अर्सलान पर आरोप है कि उन्होंने एक फर्जी लिस्ट जारी की है, जिसमें उन लोगों के नाम दर्ज हैं जो कि आतंकियों के निशाने पर हैं. इस लिस्ट ऑस्ट्रेलिया के पूर्व प्रधानमंत्री मैल्कन टर्नबुल का नाम भी शामिल है. पुलिस का कहना है कि अर्सलान को सिडनी से पकड़ा गया है और फिलहाल पूछताछ चल रही है. उनको न्यू साउथ वेल्स यूनिवर्सिटी ग्राउंट पर मिले दस्तावेज के आधार पर की गई है.

दरअसल उस्मान के भाई अर्सलान की गिरफ्तारी एक फर्जी दस्तावेज की वजह से हुई है. इस दस्तावेज में उन लोगों की लिस्ट है, जो आतंकियों के निशाने पर हैं. इसमें आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की योजना का भी जिक्र है. इस मामले में अर्सलान से पहले यूनिवर्सिटी में मोहम्मद कमेर निजामद्दीन को गिरफ्तार किया गया था. हालांकि हैंडराइटिंग न मिलने की वजह से उन्हें छोड़ दिया गया था. लेकिन अब उस्मान के भाई से इस मसले पर पूछताछ चल रही है.

एडिलेड में कोहली के सामने इतिहास दोहराने की चुनौती, क्या गांगुली-द्रविड़ की तरह कर पायेंगे कमाल

बता दें कि उस्मान ख्वाजा इस समय टीम इंडिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज खेलनी की तैयारी में जुटे हैं. इस सीरीज में उस्मान से अच्छे प्रदर्शन होगी. लेकिन इस बीच भाई की गिरफ्तारी उनका ध्यान हटा सकती है. हालांकि ऑस्ट्रेलियाई टीम को उम्मीद यही होगी कि उनके प्रदर्शन पर किसी भी तरह का असर न पड़े. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एडिलेड में टेस्ट सीरीज का पहला मैच 6 दिसंबर से खेला जायेगा.