नई दिल्ली : क्रिकेट के मैदान पर कई बार ऐसे दर्दनाक हादसे देखने को मिले हैं, जिसमें खिलाड़ी गंभीर रूप से घायल होने के अलावा कई बार जान गंवा बैठते हैं. एक ऐसा ही हादसा मुंबई के भांडुप में हुआ. यहां एक लोकल टूर्नामेंट में 24 साल के खिलाड़ी वैभव केसरकर की मौत हो गई. वैभव को मैच खेलने के दौरान हर्ट अटैक आया. इसके बाद उन्हें हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान मौत हो गई.

दरअसल मामला 23 दिसंबर का है. मुंबई के भांडुप में वैभव टेनिस बॉल क्रिकेट टूर्नामेंट में गांवदेवी टीम की ओर से खेल रहे थे. इस दौरान उनके सीने में तेज दर्द हुआ. यह देख साथी खिलाड़ियों और आसपास के लोगों ने उन्हें नजदीकी हॉस्टिपल पहुंचाया. यहां उनकी इलाज के दौरान मौत हो गई.

गौरतलब है कि वैभव के दोस्तों ने बताया कि वह अच्छा क्रिकेटर था. अलग अलग टीम से खेलता था. सभी लोगों से अच्छी बातें करता था. वैभव की डॉ. सत्येन भावसार के अस्पताल में इलाके के दौरान मौत हुई. डॉ. भावसार ने बताया उसपर सही इलाज चल रहा था लेकीन हालत खराब होने की वजह से हम उसे नहीं बचा पाए.

टीम इंडिया में क्यों जगह डिजर्व करते हैं मयंक अग्रवाल

डॉक्टर भावसार कहते है की युवाओं का लाइफस्टाइल इसके लिए जिम्मेदार है. जंक फूड एक बड़ा चिंता का विषय है. इसके साथ ही युवा सही वक्त पर खाना नहीं खाते, रात रात पार्टियां या फिर मोबाईल पर रहते है.

बता दें कि इस घटना का एक अहम पहलू यह भी है कि वैभव पिछले कई दिनो से बेरोजगार था. मुलत: भांडुप इलाके में रहने वाले वैभव का परिवार आर्थिक तंगी के चलते ठाणे के पास कळवा रहने चला गया था. वैभव नौकरी न होने की वजह से वैभव हमेशा तनाव में रहता था. लेकिन वैभव ने यह बाद किसी भी अपने दोस्त से नहीं बताई थी.