महेंद्र सिंह धोनी जैसे महान कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज की जगह लेना किसी भी खिलाड़ी के लिए मुश्किल है। भारतीय टीम ने धोनी की जगह खेल रहे युवा क्रिकेटर रिषभ पंत को भी अक्सर इसके नकारात्मक नतीजे सहने पड़ते हैं। धोनी के उत्तराधिकारी माने जाने वाले पंत जब भी खराब शॉट खेलकर आउट होते हैं या फिर विकेटकीपिंग करते समय वो कैच छोड़ते हैं तो स्टेडियम में मौजूद फैंस धोनी-धोनी के नारे लगाते हैं। लेकिन पंत अकेले खिलाड़ी नहीं हैं जिसके साथ ऐसा हुआ है, मुंबई वनडे के दौरान केएल राहुल को भी फैंस से इसी बर्ताव का सामना करना पड़ा।

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए पहले मैच में बल्लेबाजी के दौरान पैट कमिंस की गेंद पर सिर पर लगने के वजह से पंत कनकशन के शिकार हुए और विकेटकीपिंग करने नहीं आए। स्क्वाड में अतिरिक्त विकेटकीपर की जगह मौजूद राहुल को ये जिम्मेदारी संभालनी पड़ी और उन्हें बहुत जल्द इसकी अहमियत भी पता चली।

ICC से ‘खेल भावना सम्मान’ पाकर हैरान हैं विराट कोहली

राहुल जो कि वनडे मैचों में स्थाई विकेटकीपर नहीं हैं (हालांकि वो आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब के लिए विकेटकीपिंग करते हैं) शायद इस वजह से वो भारतीय गेंदबाजों, खासकर कि स्पिनर रवींद्र जडेजा की गेंद की लाइन नहीं पकड़ पा रहे थे। इस वजह से राहुल से कई बार गेंद भी छूटी। फैंस ने इस गलती के लिए राहुल पर जरा भी नर्मी नहीं दिखाई और उनके गेंद को मिस करते ही धोनी-धोनी के नारे लगाने शुरू कर दिए।

भारतीय टीम को मुंबई वनडे में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 10 विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा। जिसके बाद सोशल मीडिया पर धोनी का नाम ट्रेंड करने लगा।