भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी युवराज सिंह (Yuvraj Singh) और ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) ने मंगलवार को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) से विजय हजारे ट्रॉफी (Vijay Hazare Trophy) में रिजर्व डे न होने पर सवाल किया है. रिजर्व डे न होने के कारण पंजाब की टीम सेमीफाइनल में नहीं जा सकी.

क्वार्टर फाइनल में तमिलनाडु द्वारा रखे गए 175 रनों के जवाब में पंजाब ने 13 ओवरों में दो विकेट खोकर 52 रन बना लिए थे, लेकिन तभी बारिश आ गई और मैच रद्द कर दिया गया. लीग चरण में ज्यादा मैच जीतने के कारण तमिलनाडु को सेमीफाइनल में जगह मिली.

पढ़ें:- ‘बांग्लादेश की टीम दक्षिण अफ्रीका के मुकाबले ज्यादा अनुभवी, टी20 में…’

युवराज ने ट्वीट में लिखा, “पंजाब के लिए विजय हजारे ट्रॉफी में तमिलनाडु के खिलाफ एक और दुर्भाग्यपूर्ण परिणाम. एक बार फिर मैच खराब मौसम के कारण रद्द हो गया और अंकों के आधार पर हम सेमीफाइनल में नहीं जा सकते. क्यों हमारे पास रिजर्व डे नहीं है. या फिर यह वो घरेलू टूर्नामेंट है जो बीसीसीआई के लिए मायने नहीं रखता.”

पंजाब के क्रिकेटर मनदीप सिंह (Mandip Singh) ने भी ट्वीटर पर इस बात पर नाराजगी जताई थी. उन्होंने लिखा था, “लीग चरण में बेहतरीन क्रिकेट खेलना क्वालीफाई करना मुश्किल है. अब हम बारिश के कारण टूर्नामेंट से बाहर हैं वो भी बिना क्वार्टर फाइनल खेले. यह बेहद निराशाजनक है.”

पढ़ें:- फाफ डु प्‍लेसिस बोले- हमारे तेज गेंदबाजों ने सिर्फ दिन में 30 से 40 मिनट ही अच्‍छी गेंदबाजी की

मनदीप को हरभजन (Harbhajan Singh) का साथ मिला. हरभजन ने उनके ट्वीट का जवाब में लिखा, “खराब नियम, इन टूर्नामेंट में रिजर्व डे नहीं है. बीसीसीआई को इसे देखना चाहिए और इसे बदलना चाहिए.”