घरेलू क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ी और पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वसीम जाफर ने मंगलवार को विजय हजारे ट्राॅफी के लिए वड़ोदरा में इस्तेमाल हो रही पिचों को ‘अनुपयुक्त’ करार देते हुए उनकी आलोचना की.

पढ़ें:- 3 साल में विश्‍व कप कराने के आईसीसी के प्रस्‍ताव पर गांगुली बोले- कभी-कभी…

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘‘ वड़ोदरा में हुए मैचों में इस्तेमाल की गयी पिचें ‘लिस्ट ए’ क्रिकेट के लिए अनुपयुक्त.’’

रणजी ट्राॅफी में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले इस बल्लेबाज ने कहा कि मोतीबाग मैदान की पिचें ‘खतरनाक के करीब’’ हैं.
‘‘हां, खासकर मोतीबाग मैदान की पिचें खतरनाक थी. दो-तीन बल्लेबाजों को गेंद से चोट लगी और कोई भी 150-160 रन से अधिक नहीं बना सका.’’

पढ़ें:- लगातार 2 मैच जीतने के बाद जापान से हारी जूनियर हॉकी टीम

जाफर ने कहा, ‘‘ हमारा टूर्नामेंट 24 सितंबर को शुरू होना था लेकिन दो सप्ताह तक बारिश होती रही. ऐसे में मुझे नहीं पता कि बड़ौदा क्रिकेट संघ विजय हजारे टूर्नामेंट की मेजबानी के लिये क्यों तैयार हुआ.’’