विजय हजारी ट्रॉफी 2019 की शुरुआत 24 सितंबर से हुई। पहले चार दिनों के दौरान ही 30 में से 17 मुकाबले बारिश और खराब रौशनी के चलते रद्द कर दिए गए हैं। इस समस्‍या से निजात पाने के लिए बीसीसीआई ने बारिश की भेट चढ़ चुके मुकाबलों को रिशेड्यूल करने का निर्णय लिया है।

वर्ल्‍ड कप में नंबर-4 पर खेलने के लिए रिषभ के पास पर्याप्‍त अनुभव नहीं था: युवराज सिंह

दो और आठ अक्‍टूबर को विजय हजारे ट्रॉफी में आराम के दिन रखे गए हैं। बारिश के चलते रद्द किए गए मैच इन दो दिनों में कराए जाएंगे। लीग स्‍तर के मैचों को भी कुछ और दिन आगे बढ़ाया जा सकता है। 16 अक्‍टूबर को टूर्नामेंट का समापन होना है। फाइनल मैच की तारीख को भी आगे बढ़ाए जाने की उम्‍मीद है।

विजय हजारे ट्रॉफी में ग्रुप ए और बी के मुकाबले बेंगलुरू और वडोदरा में खेले जा रहे हैं। इन दोनों ग्रुप के मुकाबले ही सबसे ज्‍यादा बारिश के चलते प्रभावित हुए हैं। मुंबई की टीम के दोनों ही मुकाबले बिना एक भी बॉल फेंके बारिश के चलते रद्द कर दिए गए।

भारतीय दिग्गज सौरव गांगुली बने दूसरी बार बंगाल क्रिकेट संघ के अध्यक्ष

नियम के मुताबिक ग्रुप ए और बी में कुल 18 टीमें हैं, जिसमें से सर्वाधिक पांच टीमें क्‍वाटर फाइनल में पहुंचती हैं। टाइम्‍स ऑफ इंडिया से बातचीत के दौरान बीसीसीआई के जनरल मैनेजर (क्रिकेट ऑपरेशन) सबा करीम ने कहा, “हम मैचों को रिशेड्यूल करने की दिशा में काम कर रहे हैं। हमें इस बात की उम्‍मीद नहीं थी कि बिना मौसम की बरसात टूर्नामेंट को इस कदर प्रभावित करेगी।”

उन्‍होंने कहा, “ये केवल एक वेन्‍यू की बात नहीं है। हर जगह यही स्थिति है। सभी पक्षों से बात करने के बाद हम मैच को बाकी बचे दिनों में कराने को लेकर अंतिम निर्णय लेंगे। हम केवल इतना चाहते हैं कि सभी टीमों को ज्‍यादा से ज्‍यादा मैच मिलें।”

बता दें कि विजय हजारे ट्रॉफी के मैच जयपुर, देहरादून, बेंगलुरू, वडोदरा में खेले जा रहे हैं।