देश के घरेलू वनडे टूर्नामेंट विजय हजारे ट्रॉफी (Vijay Hazare Trophy) की आज शुरुआत हो गई है. टूर्नामेंट के पहले ही दिन झारखंड के कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज ईशान किशन (Ishan Kishan) ने जमकर धमाल मचा दिया. ईशान ने मध्य प्रदेश के खिलाफ खेले जा रहे इस मैच 94 गेंदों में यहां 173 रन जड़ दिए, जिसमें 19 चौके और 11 छक्के शामिल थे. उनकी इस विस्फोटक पारी की बदौलत झारखंड ने मध्य प्रदेश के सामने निर्धारित 50 ओवर में 423 रन का विशाल लक्ष्य रखा है. Also Read - Vijay Hazare Trophy: IPL में नहीं बिके Sreesanth ने दिया करारा जवाब, रिकॉर्ड 5 विकेट लेकर दिलाई टीम को जीत

यह एलीट ग्रुप B का पहला ही मुकाबला है, जिसमें मध्य प्रदेश की टीम ने आज यहां टॉस जीतकर पहले फील्डिंग का फैसला किया था. इंदौर के होल्कर स्टेडियम में खेले जा रहे इस मुकाबले में मध्य प्रदेश के तेज गेदंबाज ईश्वर पांडे ने पारी के तीसरे ओवर में पहला विकेट लेकर अपनी टीम को पहली कामयाबी तो दिला दी. लेकिन इसके बाद ईशान ने जिस ढंग से मोर्चा संभाला वह काबिले तारीफ था. मैदान के चारों ओर उनका ही जलवा दिख रहा था और मध्य प्रदेश के गेंदबाज उनके सामने बेबस नजर आ रहे थे. Also Read - India vs England T20I squad: सीरीज के लिए भारतीय टीम का ऐलान, ईशान किशन, सूर्यकुमार यादव और राहुल तेवतिया पहली बार टीम में शामिल

इस लेफ्टहैंडर बल्लेबाज ने 74 गेंदों पर 12 चौकों और 5 छक्कों की मदद से 102 रन बनाए. अपना शतक पूरा करने के बाद झारखंड के इस युवा कप्तान ने एमपी के खिलाफ अपना अंदाज और भी खौफनाक बना लिया. इसके बाद वह सिर्फ 20 गेंदें ही और खेल सके लेकिन इस दौरान उन्होंने 6 छक्के और 7 चौकों की मदद से ताबड़तोड़ 71 रन और जोड़ दिए. Also Read - Vijay Hazare Trophy 2021: कब और कहां देखें- घरेलू वनडे मैच की LIVE Streaming और टीवी पर लाइव

उनकी इस शानदार पारी के दम पर झारखंड की टीम 26वें ओवर में ही 200 रन का आंकड़ा पार कर गई. हालांकि वह खुद को थोड़ा सा अनलकी जरूर मान रहे होंगे, जो यहां दोहरे शतक से चूक गए. ईशान पारी के 28वें ओवर में आउट हुए गौरव यादव की गेंद पर आउट हुए.

इससे पहले झारखंड की टीम शुरुआती 20 ओवर तक ही अपने 2 विकेट गंवा चुकी थी. लेकिन ईशान के खेल पर इसका कोई असर नहीं पड़ा वह एक छोर पर लगातार बड़े-बड़े शॉट्स लगाते रहे. 28वें ओवर में जब यह बल्लेबाज 173 रन निजी स्कोर पर झारखंड के तीसरे विकेट के रूप में आउट हुआ, तब उसका स्कोर 240 रन था. अंत के करीब 21 ओवरों में झारखंड की टीम ने अपने 6 विकेट और गवाकर 182 रन और जोड़कर अपनी टीम का स्कोर 422 रन पहुंचा दिया.