भारतीय क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर विजय शंकर 2019 विश्व कप टीम में टीम इंडिया के हिस्सा थे लेकिन टखने की चोट के कारण वह पूरा टूर्नामेंट नहीं खेल सके थे. उसके बाद से वह सीनियर टीम का हिस्सा नहीं है क्योंकि चोटिल हार्दिक पांड्या की जगह शिवम दुबे ने ली. अब पांड्या फिट होकर टीम में वापसी के लिए तैयार हैं. Also Read - थूक के इस्‍तेमाल पर रोक से बिगड़ेगा गेंद-बल्‍ले का संतुलन, अनिल कुंबले का सुझाव, पिच में हो बदलाव

विजय शंकर का कहना है कि वह इस सोच में अपना सिर नहीं खपाना चाहते कि भारतीय टीम के लिए सफेद गेंद के प्रारूप में हरफनमौला के रूप में पहली पसंद पांड्या हैं. वह पूरा फोकस अच्छा प्रदर्शन कर दौड़ में खुद को बने रखना चाहते हैं. Also Read - चहल पर आपत्तिजनक टिप्‍पणी के इस्‍तेमाल के मामले में युवराज सिंह के खिलाफ शिकायत दर्ज, पुलिस ने...

विजय ने एक इंटरव्यू में कहा, ‘यदि मुझ पर इसका फर्क पड़ने लगे तो मैं अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकूंगा. मेरा फोकस सिर्फ अपने मैचों और प्रदर्शन पर होना चाहिए.’ Also Read - यौन उत्‍पीड़न के मामले में भारतीय टीम के पूर्व खिलाड़ी को कोच पद से किया गया बर्खास्‍त

उन्होंने कहा ,‘मैं अच्छा खेलूंगा तो लोग मेरे बारे में बात करेंगे . मैं भारतीय टीम में चुना जाऊंगा . मैं इस बारे में ही सोचता नहीं रहूंगा कि दूसरे खिलाड़ी क्या कर रहे हैं .’

‘मैं लंबे समय तक क्रिकेट खेलना चाहता हूं’

तमिलनाडु के इस क्रिकेटर ने कहा, ‘मैं लंबे समय तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलना चाहता हूं. अच्छा प्रदर्शन करने पर ही यह संभव हो सकेगा.’ विजय ने घर की छत पर एस्ट्रोटर्फ विकेट लगा रखी है लेकिन लॉकडाउन के दौरान वह अभ्यास नहीं कर रहे.

उन्होंने कहा, ‘आम तौर पर मैं गेंद या थ्रोडाउन डालने के लिए दो या तीन लोगों को बुलाता हूं. लॉकडाउन के कारण मैं ऐसा नहीं कर पा रहा. शायद अब अभ्यास शुरू कर सकूं.’