नई दिल्ली : ऑलराउंडर विजय शंकर ने सोमवार को भारत की विश्व कप टीम में जगह बनाने के बाद कहा कि उनका सपना सच हो गया और वह आईपीएल टीम के साथी भुवनेश्वर कुमार के साथ इस महासमर का दबाव झेलने की कला सीख रहे हैं.

शंकर ने आईपीएल के अपने साथी भुवनेश्वर का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘मैं भारतीय विश्व कप टीम का हिस्सा बनकर काफी खुश हूं. यह सपने के साकार होने जैसा है. यहां सनराइजर्स हैदराबाद में भी कुछ सदस्य विश्व कप विजेता टीम के हैं और मैंने उनसे इस बारे में यह समझने के लिये बात की है कि विश्व कप टीम में खेलना कैसा लगता है और फिर इसे जीतने का अहसास क्या होता है. मैंने उनसे काफी कुछ सीखा है कि इस तरह के महासमर में दबाव से निपटने के क्या तरीके हैं.’’

शंकर को बल्लेबाजी क्रम में जरूरत के मुताबिक इस्तेमाल किये जाने की उम्मीद है, विशेषकर चौथे नंबर पर. तमिलनाडु के इस खिलाड़ी ने अपनी त्रिआयामी काबिलियत के बूते यह स्थान हासिल किया जिसके पहले अम्बाती रायुडू के पास जाने की उम्मीद थी.

World Cup 2019: ऑस्ट्रेलिया ने घोषित की टीम, स्मिथ-वॉर्नर की वापसी

भुवनेश्वर अपना दूसरा विश्व कप खेलेंगे, वह भी खुश थे. उन्होंने कहा, ‘‘मैं भी विश्व कप के लिये चुने जाने से काफी खुश हूं, इंग्लैंड के हालात मेरी मजबूती के अनुरूप होंगे और मैं इसका पूरा फायदा उठाने की कोशिश करूंगा. आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद की ओर से खेलने से मुझे विश्व कप जैसे बड़े टूर्नामेंट से पहले सही मैच अभ्यास मिला है.’’

World Cup 2019: ऋषभ पंत टीम इंडिया से बाहर, सलेक्टर्स ने बताई ये बड़ी वजह

सनराइजर्स हैदराबाद के टीम मेंटोर और पूर्व भारतीय बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने कहा कि भारतीय चयनकर्ताओं ने एक मजबूत टीम चुनी है. उन्होंने कहा, ‘‘भारतीय टीम काफी संतुलित टीम है और खिताब की प्रबल दावेदारों में से एक है. मैंने भुवी और विजय को नेट पर खेलते हुए देखा है. वे अच्छी फॉर्म में हैं और विश्व कप जैसे मंच पर शानदार प्रदर्शन करने के लिये तैयार हैं. मुझे उम्मीद है कि ये टीम की सफलता में काफी बड़ा योगदान देंगे.’’