नई दिल्ली: श्रीलंका में होने वाली आगामी टी-20 त्रिकोणीय सीरीज के लिए भारतीय टीम में शामिल तमिलनाडु के हरफनमौला खिलाड़ी विजय शंकर का कहना है कि वह टीम में हार्दिक पांड्या की जगह खेलने का दवाब महसूस नहीं कर रहे हैं. पांड्या को श्रीलंका दौरे के लिए आराम दिया गया है और ऐसे में शंकर टीम के साथ मैदान पर उतरेंगे. Also Read - IPL 2020: चोट को लेकर हार्दिक पांड्या ने दिया बड़ा बयान, कहा-मैं चोटिल होना...

Also Read - विराट कोहली के बाद टीम इंडिया का अगला कप्तान कौन? आकाश चोपड़ा ने बताया दावेदार का नाम

शंकर जानते हैं कि उन्हें पांड्या की जगह टीम में शामिल किया गया है, क्योंकि कप्तान विराट कोहली इस बात को स्पष्ट कर चुके हैं कि टीम प्रबंधन 27 वर्षीय शंकर को पांड्या के बैक-अप के रूप में आगे बढ़ाना चाहता है. शंकर ने कहा, “मैं इसे ज्यादा महत्व नहीं देता. मैदान पर कदम रखते ही दवाब बना रहता है. आपको संयम के साथ वैसा ही खेलने की जरुरत होती है जैसा आप हर जगह खेलते हैं.” Also Read - विराट कोहली IPL 2020 से पहले इस कंपनी के बने ब्रांड एम्बेसडर, जानिए पूरी डिटेल

VIDEO: जब ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने विश्वकप में की सबसे खतरनाक गेंदबाजी, इंग्लैंड के उखाड़े स्टम्प्स

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की निलामी में दिल्ली डेयरडेविल्स द्वारा 3.2 करोड़ रुपये में खरीदे जाने वाले शंकर का मानना है कि भारतीय टीम का हर खिलाड़ी विशेष है और उन्हें हर खिलाड़ी से बहुत कुछ सीखने की जरुरत है.

शंकर ने कहा, “हर खिलाड़ी के पास टीम को देने के लिए कुछ विशेष है. एक क्रिकेट खिलाड़ी के रूप में हम हर किसी से सीख सकते हैं और इसका मतलब किसी से तुलना करना नहीं है.” शंकर ने घरेलू क्रिकेट में भी शानदार प्रदर्शन किया है. उन्होंने कहा, “मैं घरेलू क्रिकेट को बहुत महत्वपूर्ण स्तर मानता हूं क्योंकि जब भी मैं अच्छा करता हूं तब मुझे अगले स्तर पर जाने का भरोसा मिलता है. इसलिए, घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करना मेरे लिए महत्वपूर्ण है.”

स्मिथ-वॉर्नर ने जड़ा अर्धशतक, पहले दिन ऑस्ट्रेलिया ने 5 विकेट खोकर बनाए 225 रन

हरफनमौला खिलाड़ी शंकर अपने कोच एस. बालाजी के साथ पिछले कुछ माह से अभ्यास करे रहे हैं. उन्होंने कहा, “मैंने अपने कोच के साथ अभ्यास किया और कुछ चीजों पर काम किया. मैं नहीं समझता कि मुझे कुछ अलग करने की जरूरत है. मेरे लिए यह जरूरी है कि जो मैं कर रहा हूं उसे जारी रखूं.”

विश्व कप के लिए टीम में शामिल होने के प्रश्न पर शंकर ने कहा, “मैं इस बारे में ज्यादा सोचकर अपने उपर ज्यादा दबाव नहीं बना रहा. मैं विश्व कप और किसी अन्य चीज के बारे में अभी नहीं सोच रहा.” शंकर ने सीरीज से पहले मानसिक रूप से तैयारी करने के बारे में कहा, “मानसिक रूप से मैं खेल के बारे में बहुत सोचता हूं. मैं हर मैच देखता हूं और इससे मुझे विभिन्न परिस्थितियों के अनुकूल रहने में मदद मिलती है.”