नई दिल्ली: भारत के स्टार मुक्केबाज विजेंदर सिंह को उम्मीद है कि 23 दिसंबर को अफ्रीकी चैंपियन घाना के अर्नेस्ट अमुजु के खिलाफ होने वाले मुकाबले में वह नॉकआउट जीत के साथ अपने दोहरे खिताब का बचाव करेंगे.

पेशेवर मुक्केबाजी में अपने सभी नौ मुकाबले जीतने वाले विजेंदर के पास डब्ल्यूबीओ एशिया पैसीफिक और ओरिएंटल सुपर मिडिलवेट का खिताब भी है. उन्होंने विदेश में छह जीत दर्ज करने के साथ देश में तीन मुकाबलों में अपना परचम लहराया है. देश में यह उनका चौथा मुकाबला होगा. यह भी पढ़ें: IND vs SL तीसरा वनडे LIVE: श्रीलंका को छठवां झटका, कप्तान थिसारा परेरा पवेलियन लौटे

 इस मुकाबले से विजेंदर अपने रिकार्ड को 10-0 करने के लक्ष्य के साथ कड़ी मेहनत कर रहे हैं और उन्होंने अपने विरोधी को उन्हें हल्के में ना लेने की चेतावनी भी दी. विजेंदर ने कहा, मेरे प्रशिक्षक ली बीयर्ड और जान जायस भारत में है और हमने अर्नेस्ट के वीडियो देखे हैं. इससे पहले हुए मुकाबले में मेरा विरोधी बायें हाथ का मुक्केबाज था और अब अर्नेस्ट परंपरागत मुक्केबाज है इसलिए विरोधी के अनुसार अपनी तकनीक में बदलाव करने के लिये मैंने अपनी तकनीक पर काफी मेहनत की है.

बीजिंग ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाले इस मुक्केबाज ने कहा, मेरे कोच ने उनके खिलाफ रिंग में लड़ने के लिये योजनाएं बनायी हैं. मैं इस मुकाबले के लिये पूरी तरह तैयार हूं. मुझे पता है अर्नेस्ट मुझ से ज्यादा अनुभवी है. उसने पेशेवर मुक्केबाजी के 25 मुकाबलों में से 23 में जीत दर्ज की है लेकिन एमेच्योर मुक्केबाजी का मेरा अनुभव उसके खिलाफ पेशेवर मुक्केबाजी में काम आयेगा.

विजेंदर ने कहा, मुझे लगता है कि उसे मुझे हल्के में नहीं लेना चाहिये, मैं उसे शुरूआती दौरों में ही पटखनी दे दूंगा. इस साल का यह मेरा आखिरी मुकाबला होगा और मैं साल का अंत जीत के साथ करना चाहूंगा वह भी नॉकआउट जीत के साथ. इससे पहले अर्नेस्ट ने चेतावनी देते हुए कहा था कि सवाई मानसिंह स्टेडियम में जब वह विजेंदर सिंह से भिड़ेंगे उसे तोड़ के रख देंगे.

विजेंदर ने कहा, मुझे पता है यह मानसिक खेल है और इससे पहले मेरे सभी नौ विरोधियों ने मेरे खिलाफ ऐसी रणनीति बनायी थी लेकिन मैं हमेशा अपने प्रशिक्षण पर ध्यान देता हूं. अर्नेस्ट को ऐसी बातें करने दीजिये. मैं कड़ी मेहनत कर रहा हूं और रोज विभिन्न मुक्केबाजों के साथ दस दौर का मुकाबला कर रहा हूं.