साकेत कुमार
नई दिल्ली, केपटाउन वनडे में विराट कोहली ने अपनी लाजवाब काबिलियत की एक और मिसाल पेश की है. उन्होंने एक और शानदार सैकड़ा जड़ा, जो कि इस सीरीज में उनके बल्ले से निकला दूसरा शतक है. विराट कोहली ने 159 गेंदों पर नाबाद 160 रन बनाए, जिसमें 12 चौके और 2 छक्के शामिल रहे. वनडे में ये कोहली के बल्ले से निकला तीसरा 150 प्लस स्कोर है. वैसे, ये तो महज कुछ आंकड़े हैं. केपटाउन में कोहली के बल्ले से निकली विराट पारी इससे कहीं बढ़कर है. Also Read - IND vs AUS: डेब्‍यूटेंट टी नटराजन, वाशिंगटन सुंदर की शानदार गेंदबाजी से 369 पर सिमटा ऑस्‍ट्रेलिया

न्यूलैंड्स की क्रीज पर कदम रखते ही कोहली ने अपना कमाल दिखाना शुरू कर दिया. साउथ अफ्रीका के हर एक गेंदबाज की खबर लेते हुए कोहली ने केपटाउन में ना सिर्फ अपनी टीम की जीत की मजबूत बुनियाद रखी बल्कि रिकॉर्डों की झड़ी भी लगा दी. Also Read - फेस मास्‍क पहनकर मैदान में आए ऑस्‍ट्रेलियाई फैन्‍स, CA ने कुछ यूं लिए मजे

तीसरे वनडे में नाबाद 160 रन की पारी खेलकर विराट साउथ अफ्रीका में वनडे क्रिकेट में सबसे बड़ी पारी खेलने वाले भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं. इस मामले में उन्होंने सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ा है. साउथ अफ्रीका के खिलाफ उन्हीं की धरती पर वनडे शतक जमाने वाले रिकी पॉन्टिंग के बाद वो दूसरे कप्तान हैं. विराट कोहली 12 शतकों के साथ सबसे ज्यादा वनडे शतक लगाने वाले भारतीय कप्तान भी बन गए हैं. इस मामले में उन्होंने सौरव गांगुली के 11 शतकों के रिकॉर्ड को तोड़ा है. वनडे में 34 शतकों के साथ सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले सचिन तेंदुलकर के बाद वो दूसरे बल्लेबाज हैं. Also Read - 4th Test: भारत की बढ़ी मुश्किलें, अब Navdeep Saini भी हुए चोटिल, Rohit Sharma ने पूरा किया ओवर

साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में विराट का बल्ला रन आग की तरह उगल रहा है. यही वजह है कि उनके बल्ले के तेवर के सामने 25 साल पुराना अजहरुद्दीन का रिकॉर्ड भी ढेर हो गया. साल 1992-93 के साउथ अफ्रीका दौरे पर अजहर ने वनडे सीरीज में 232 रन बनाए थे. अजहर के इस रिकॉर्ड को कोहली ने इस सीरीज के तीसरे ही मैच में तोड़ दिया है और अब वो साउथ अफ्रीका में बाइलेट्रल वनडे सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले एशियाई कप्तान बन गए हैं. विराट वनडे सीरीज के पहले 3 मैचों में 318 रन बना चुके हैं, जिसमें 2 शतक शामिल हैं.

वनडे सीरीज में तीन मुकाबले अभी और खेले जाने हैं और कोहली का बल्ला अगर यूं ही कमाल करता रहा तो अभी और भी कई रिकॉर्ड ढेर होंगे.