टीम इंडिया में चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने वाले भारतीय क्रिकेट टीम के युवा बल्लेबाज श्रेयस अय्यर ने कप्तान विराट कोहली की जमकर प्रशंसा की है. अय्यर का कहना है कि कोहली की सकारात्मक सोच दूसरों के लिए प्रेरणादायी है. विराट की आदतों से हम काफी कुछ सीख सकते हैं. Also Read - अगस्त-सितंबर में टीम इंडिया का कैंप लगाने के बारे में सोच रही है बीसीसीआई

बकौल श्रेयस, ‘विराट टीम में मौजूद सभी युवा खिलाड़ियों के लिए बेहतरीन उदाहरण हैं क्योंकि उनके पास ऊर्जा और हार न मानने का स्वाभाव है. हम उनसे काफी कुछ सीखते हैं और वह हमें लगातार प्रेरित करते रहते हैं. वह इस तरह के इंसान हैं कि अगर वो आपके आस-पास होते हैं तो आप उनकी आदतों और रूटीन को अपना लेते हैं. सिर्फ उनका आस-पास रहना ही नहीं, बल्कि वह जिस तरह से टीम की कप्तानी करते हैं, हमें लगातार प्रेरित करते हैं.’ Also Read - फ्लॉप XI में मनोज तिवारी का नाम देख भड़की पत्नी सुष्मिता

कोहली से सीख रहे कप्तानी के गुर  Also Read - फैंस ही नहीं साथी खिलाड़ियों को भी आ रही है धोनी की याद; रैना ने पोस्ट की फोटो तो चहल ने साक्षी से मदद मांगी

अय्यर इस समय कोहली से कप्तानी के गुर सीख रहे हैं. वो अपनी कप्तानी में आईपीएल फ्रेंचाइजी दिल्ली कैपटिल्स को पिछले साल सात साल बाद आईपीएल के प्लेऑफ में ले गए थे.

2018 में अय्यर को सीजन के बीच में गौतम गंभीर की जगह टीम का कप्तान बनाया गया था और 2019 में उन्होंने पूरे सीजन टीम की कप्तानी की थी.

‘आईपीएल की पारी ने सबकुछ बदल दिया’

अय्यर ने कहा, ‘गौतम भाई, खिलाड़ियों, सपोर्ट स्टाफ के साथ मेरा तालमेल अच्छा था और खुशकिस्मती से मैंने कप्तान के तौर पर पहले मैच में 40 गेंदों पर 93 रन बनाए थे (कोलकाता नाइटराइडर्स के खिलाफ, यह मैच कैपिटल्स ने 55 रन से जीता था.) इसने काफी कुछ बदल दिया क्योंकि फिर सभी लोग मेरी तरफ देखने लगे थे. सभी को काफी विश्वास था कि मैं टीम को अगले स्तर पर ले जा सकता हूं.’

उन्होंने कहा, ‘निजी तौर पर मेरे लिए यह ज्यादा मुश्किल नहीं था क्योंकि मैं अपने दिमाग को इस तरह से तैयार कर चुका था कि अगर मुझे इस स्थिति में लाया जाता है तो मुझे क्या करना है. दिल्ली कैपिटल्स जैसी फ्रेंचाइजी की कप्तानी करना सपने के सच होने जैसा है.’