नई दिल्ली. विराट कोहली ने पिछले साल एक इंटरव्यू में कहा था उन्हें रन चेज में मजा आता है. विराट के इस हुनर का असर मैदान पर भी दिखता है. जब वो अपने बल्ले से टीम इंडिया की जीत की स्क्रिप्ट लिखते हैं. गुवाहाटी में खेले सीरीज के पहले वनडे में वेस्टइंडीज ने टीम इंडिया के सामने 324 रन का बड़ा टारगेट रखा. लेकिन इस बड़े लक्ष्य को भी चेज मास्टर विराट कोहली ने अपने हुनर से कम कर दिया. Also Read - IPL 2020 SRH vs RCB Highlights: कोहली एंड कंपनी ने पिछले 3 सीजन से चले आ रहे पहले मैच की हार के मिथक को तोड़ा

Also Read - IPL 2020: आखिर क्यों विराट कोहली ने ट्विटर पर अपना नाम सिमरनजीत किया, जानिए पूरी डिटेल

सचिन, पॉन्टिंग, संगाकारा और कैलिस से भी तेज निकले विराट कोहली , किया ये कमाल Also Read - IPL13 SRH vs RCB: पहले ही मैच में मिली धमाकेदार जीत के बाद गरजे विराट कोहली, वॉर्नर बोले- चहल ने पासा पलट दिया

‘चीकू’ को चेज पसंद है

विराट ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 107 गेंदों पर 140 रन बनाए. ये उनके वनडे करियर का 36वां शतक है, जबकि रन चेज यानी कि लक्ष्य का पीछा करते हुए 22वां शतक है. इस शतक के साथ विराट ने ये साबित कर दिया कि वो रन चेज के मामले में डिविलियर्स और सचिन से काफी बेहतर हैं.

एबी और सचिन से बेहतरीन विराट

वनडे की दूसरी इनिंग में विराट कोहली का बैटिंग औसत 68.54 प्रति विकेट का है. रन चेज में विराट का ये आंकड़ा 56.81 की औसत के साथ दूसरे नंबर पर मौजूद विस्फोटक एबी डिविलियर्स से 21 फीसदी बेहतर है तो वहीं सचिन तेंदुलकर से 62 फीसदी बेहतर है, जिनका औसत 42.33 का है.

साफ है लक्ष्य का पीछा करते हुए फिलहाल वर्ल्ड क्रिकेट में विराट कोहली का कोई सानी नहीं है.